कहीं सच साबित न हो जाए डोनाल्ड ट्रंप का डर?

ट्रंप को आखिर किसने डराया ?

कोरोना ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है। सभी देश कोरोना के कहर से जूझ रहे हैं और अपने देशवासियों को कोरोना की मौत मरते देखना पड़ रहा है। सभी देश कोरोना के आगे बेबस हो चुके हैं। सबसे शक्तिशाली राष्ट्र अमेरिका भी कोरोना की आग में जल रहा है। अमेरिका में कोरोना से अब तक 2500 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और लाखों लोग कोरोना से संक्रमित बताए जा रहे हैं।

भारत समेत 64 देशों को 17.4 करोड़ डॉलर की आर्थिक मदद करेगा अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का आदेश

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में मीडिया को संबोधित करते हुए कोरोना से लगातार बढ़ते मौत के आंकड़ों पर चिंता व्यक्त की है। हालांकि डोनाल्ड ट्रंप कोरोना से लड़ने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं लेकिन कोरोना का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में डोनाल्ड ट्रंप काफी चिंतित है और उन्होंने आशंका जाहिर की है कि अगले दो हफ्ते अमेरिका के लिए सबसे भारी साबित होने वाले हैं क्योंकि इन दो हफ्तों में मृत्यु दर का आंकड़ा चरम पर जा सकता है। इस आशंका के कारण डोनाल्ड ट्रंप ने ‘सोशल डिस्टेंसिंग’ की गाइडलाइन को और आगे बढ़ाने का फैसला लिया है। सोशल डिस्टेंसिंग के आदेश को 30 अप्रैल तक जारी रखने का आदेश दिया गया है।

डोनाल्ड ट्रंप ने जताई उम्मीद

सोशल डिस्टेंसिग को 30 अप्रैल तक बढ़ाए जाने के आदेश के साथ ही डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उम्मीद है कि 1 जून तक सबकुछ ठीक हो जाएगा। इससे पहले भी ट्रंप ईस्टर तक हालात पर नियंत्रण पाने की उम्मीद जता चुके हैं लेकिन ऐसा संभव नहीं हो पाया।

ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स भी कोरोना वायरस से संक्रमित

आखिर क्यों आशंकित हुए ट्रंप ?

दरअसल संक्रामक रोग मामलों के शीर्ष विशेषज्ञ ने आशंका जताई है कि अमेरिका में कोरोना से करीब 1 से 2 लाख मौत होने की आशंका है। इतना ही नहीं ‘नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इन्फेक्शियस डिसीज’ के डायरेक्टर एंथनी फॉकी ने एक इंटरव्यू में कहा था कि अमेरिका में कोरोना के संक्रमण से कई लाख मौत की आशंका है। इन्हीं आशंकाओं से अलर्ट होकर डोनाल्ड ट्रंप ने सोशल डिस्टेंसिग को 30 अप्रैल तक बढ़ाने का निर्णय लिया है।

सोशल डिस्टेंसिंग से आशंकाओं पर विजय पाने की तैयारी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शीर्ष विशेषज्ञों की आशंका को भविष्य बनने से रोकने के लिए गंभीरता दिखाई है और इसी के तहत सोशल डिस्टेंसिग के आदेश को 30 अप्रैल तक लागू किए जाने का फैसला किया है। अमेरिका में लगातार कोरोना के कारण बढ़ते मौत के आंकड़ों से हर कोई चिंतित है। ऐसे में देश का सर्वेसर्वा होने की जिम्मेदारी निभाते हुए डोनाल्ड ट्रंप कोई भी चूक होने नहीं देना चाहते। पूरी दुनिया ही कोरोना के कहर से मुक्ति पाने के लिए प्रयासरत है और ऐसे में आने वाले दो हफ्ते पूरी दुनिया के लिए ही संकट की घड़ी होगी जिससे निपटने के लिए पहले से ही तैयारी की जरूरत है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं