शंघाई में क्यों नहीं है कोरोना वायरस से संक्रमित लोग, जाने यहां…..

0
43

एकबार फिर कोरोना वायरस के 39 नए मामले चीन से सामने आए है। जिनमें से 38 मामले ऐसे है काफी लोग विदेशों से संक्रमित होकर आए हैं।

Coronavirus (कोरोना वायरस) का कहर इस कदर बढ़ गया है कि इस महामारी के कारण अब तक पूरे विश्व में 74,834 लोगों की मौत हो चुकी है। ये वायरस चीन से शूरु हुआ था जिसके बाद ये पूरे विश्य में फैल गया है। इससे सबसे ज्यादा प्रभावित देश है इटली, अमेरिका और स्पेन इन देशों में करोना वायरस से मरने वालो और संक्रमितो की संख्या सबसे ज्यादा है। वहीं सबसे बड़ी आश्चर्य की बात तो ये है कि चीन की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले शंघाई में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की पुष्टि नहीं की गयी है।

एक-एक गुनाह की सजा के लिए तैयार हो जाएं जमाती, हिसाब…

दरअसल कोरोना वायरस का गढ़ माने जा रहे वुहान में भी कोरोना संक्रमित लोगों कि संख्या कम होती जा रही है। मगर इसके बावजूद अब इस मामले ने तूल पकड़ा है कि चीन के दूसरे शहरों में कोरोना उतनी तेजी से नहीं फैला जितनी तेजी से ये वायरस इटली, ईरान, अमेरिका और स्पेन के साथ बाकी देशों में कहर बरपा रहा है। चीन की राजधानी बीजिंग ने विदेशों से कोरोना के आ रहे संक्रमित मरीजों के खिलाफ कदम उठाया है। इसी का नतीजा है कि बीजिंग और शंघाई में कोरोना का संक्रमण उस कद्र नहीं फैला जितना की वुहान में फैला है

भारत के लिए ट्रंप के बदले सुर, कहा- भारत ना देता…

वहीं एकबार फिर कोरोना वायरस के 39 नए मामले चीन से सामने आए है। जिनमें से 38 मामले ऐसे है काफी लोग विदेशों से संक्रमित होकर आए हैं। इसके अलावा चीन में कुछ ऐसे मामले भी है जिसमें लोग कोरोना वायरस से संक्रमित तो है लेकिन उनमें लक्षण नजर नहीं आ रहे है। वहीं स्वास्थ्य अधिकारियों ने सोमवार को उवन चीनी नागरिकों को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने COVID-19 (कोविड-19) संक्रमणों का दूसरा दौर आने की चिंता जाहिर की जो रोकथाम के पुरजोर प्रयासों के बाद आपने-अपने घर लौट रहे हैं। Beijing (बीजिंग) के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने सचेत किया कि राजधानी में संभवत: लंबे समय तक कोरोना वायरस महामारी हावी रहेगी। उन्होंने आगे कहा कि शहर के बचाव और नियंत्रण कार्य को जल्द रोकने की कोई संभावना नहीं है।

शंघाई में क्यों नहीं है कोरोना वायरस से संक्रमित लोग, जाने यहा.....

दरअसल, चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने सोमवार को इस बात कि जानकारी दी थी और कहा था की देश भर में COVID-19 (कोविड-19) का एक घरेलू मामला सामने आया है और बाकी 38 मामले विदेशों से संक्रमित होकर आए है। एक नया घरेलू मामला गुआंगडोंग से सामने आया है जो बड़ा औद्योगिक क्षेत्र है। इससे पहले शनिवार को भी स्थानीय स्तर पर फैले 5 नए मामले सामने आने के बाद नए मामले आने की चिंता बढ़ गई है। बता दें कि चीन ने कोविड-19 को देखते हुए दो महीने के लिए Lockdown (लॉकडाउन) किया था जिसके बाद उत्पादन कार्यों को फिर तेजी से शुरू कर दिया है। वहीं विदेश से कोरोना संक्रमण लेकर आने वाले लोगों की संख्या बढ़ रहे है। आयोग ने कहा कि “रविवार को भूभाग से 78 ऐसे नये मामले भी सामने आए जिनमें बीमारी के लक्षण नजर नहीं आ रहे. इनमें से 40 मामले वहीं हैं जो विदेशों से संक्रमित होकर आए हैं. साथ ही बताया कि जिनमें लक्षण नजर नहीं आ रहे ऐसे 1,047 मामले अब भी चिकित्सीय निगरानी में हैं।“

कोरोना से संक्रमित ब्रिटिश पीएम जॉनसन की बिगड़ी हालत, ICU में…

बता दें कि रविवार को एक नया मामला केंद्र हुबेई प्रांत से आया था जिसमें संक्रमण के चलते एक व्यक्ति की मौत हो गई। जिसमें बाद देश में मरने वालों का आंकडा 3,331 हो गया है। चीनी भूभाग पर रविवार तक कुल 81,708 लोगों कोरोना से संक्रमित पाए गए है। जिनमें से 1,299 लोग अपना इलाज करा रहे है, वहीं 77,078 मरीज को डिस्चार्ज करके घर भेज दिया गया है। वहीं इस वायरस के कारण 3,331 लोगों की मौत हो चुकी है। आयोग ने बताया कि रविवार तक हांगकांग में चार मौत और 890 मामले सामने आए है, मकाओ में 44 पुष्ट मामले और ताइवान में पांच मौत समेत 363 मामले थे। इस बीच, यहां के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने सचेत किया कि बीजिंग में Coronavirus (कोरोना वायरस) महामारी के लिए बचाव और नियंत्रण कार्य लंबे समय तक जारी रह सकता है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है