coronavirus-file

इतिहास में याद रखी जाएंगी कोरोना से जुड़ी ये तारीखें

चीन के वुहान शहर से जन्मे करोना वायरस को दुनिया एक त्रासदी के रूप में हमेशा याद रखेगी। एक ऐसा वायरस जिसने उस वायरस – के संबंध में जानकारी, लक्षण, उपाय समझने से पहले ही न जाने कितने लोगों को मौत की नींद सुला दिया। कोरोना का कहर नए साल की शुरूआत के साथ ही शुरू हो गया था और जिस तेजी के साथ इस वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया, उससे जुड़ी कुछ तारीखें दुनिया हमेशा याद रखेगी।

ब्रिटिश के पीएम बोरिस जॉनसन की हालत में सुधार

31 दिसंबर 2019- जब चीन ने W.H.O ने को एक संदिग्ध संक्रमण (कोरोना) की जानकारी दी

साल 2019 का आखिरी दिन और नए साल की शुरूआत की ये तारीख शायद ही कोई भूल सके जब विश्व स्वास्थ्य संगठन को चीन ने वुहान शहर में एक ऐसे संक्रमण की सूचना दी जिसमें लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही है। निमोनिया जैसे वायरस को समझते हुए इस संक्रमण की गंभीरता को कोई भांप नहीं पाया था। लेकिन चीन की जानकारी के बाद शोधकर्ता इस वायरस की जांच में जुट गए।

11 जनवरी 2020- जब कोरोना वायरस से चीन में पहली मौत हुई

11 जनवरी को चीन में विचित्र संक्रमण कोरोना से पहली मौत का मामला सामने आया। जिसमें 61 साल के व्यक्ति की संक्रमण से मौत हो गई। ये व्यक्ति चीन के वुहान बाजार में खरीदारी के लिए गया था। इस मामले के बाद वायरस ने थाईलैंड और जापान को अपना निशाना बनाना शुरू किया।

कोरोना त्रासदी के लिए याद रखा जाएगा साल 202024 जनवरी 2020- जब यूरोप में कोरोना ने दी दस्तक

24 जनवरी को फ्रांस ने कोरोना वायरस से 3 मरीजों की मौत की सूचना दी। अब कोरोना वायररस यूरोप में दस्तक दे चुका था और 27 जनवरी को जर्मनी में कोरोना संक्रमिक मरीज का पहला केस सामने आया।

2 फरवरी 2020- जब चीन के बाद कोरोना से दूसरी मौत फिलीपींस में हुई

चीन से बाहर पहली मौत फिलीपींस में 2 फरवरी को हुई। वुहान से मनीला आया 44 साल का व्यक्ति कोरोना से संक्रमित हुआ फिर उसकी मौत हो गई।

8 मार्च 2020- जब इटली में बढ़ते संक्रमण के करण लॉम्बार्डी हुआ क्वारंटीन

क्या प्रकृति से खिलवाड़ का परिणाम है कोरोना?

इटली में कोरोना वायरस अब तक कहर बरपाना शुरू कर चुका था। 3 मार्च तक यहां करीब 1000 से ज्यादा लोग वायरस की चपेट में आ चुके थे और करीब 77 लोग इस वायरस से अपनी जान गवां चुके थे। हालात देखते हुए 8 मार्च को पूरे लॉम्बार्डी को क्वारंटीन कर दिया गया।

कोरोना त्रासदी के लिए याद रखा जाएगा साल 2020

11 मार्च 2020- W.H.O ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित किया

पूरी दुनिया से  कोरोना वायरस के करीब 1 लाख से ज्यादा मामले सामने आने के बाद 11 मार्च को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस के संक्रमण को महामारी घोषित कर दिया।

कोरोना: चीन की एक गलती और कीमत चुका रही पूरी दुनिया: डोनाल्ड ट्रंप

24 मार्च 2020- जब भारत के पीएम मोदी ने देश में लगाया 21 दिन का लॉकडाउन

अन्य देशों से सबक लेते हुए भारत सतर्क हो चुका था। पीएम मोदी ने कोरोना वायरस की गंभीरता को समझते हुए 22 मार्च को जनता-कर्फ्यू का ऐलान किया जिसमें पूरे देश की एकजुटता देखने को मिली। संक्रमण के बढ़ते मामलों की रोकथाम के लिए और देशहित में 24 मार्च से 21 दिन के लिए पीएम मोदी ने देश में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया। भारत में 21 दिन के लॉकडाउन को दुनिया का सबसे बड़ा ल़ॉकडाउन माना जा रहा है।

इतिहास में याद रखा जाएगा त्रासदी का मंजर

पूरी दुनिया में कोरोना महामारी एक त्रासदी के रूप में कहर बरपा रही है। अपना विकराल रूप दिखाते हुए बड़ी संख्या में लोगों को इस संक्रमण ने अपना निवाला बनाया है। कोरोना वायरस महामारी से जुड़ी तारीखें दुनिया के तमाम देशों के इतिहास में याद रखी जाएंगी।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है