इक्वाडोर में दिखा Coronavirus का आतंक, सड़कों पर पड़ी लाशों को नहीं मिल रहे उठाने वाले

0
52

कोरोना वायरस से मरने वालों की लाशें सड़कों और घरों के आगे कई दिनों से पड़ी हुई हैं। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय लोगों की माने तो घरों के आगे 5 दिनों से लाशें पड़ी हुई हैं।

कोरोना वायरस का आतंक पूरी दुनिया में देखने को मिल रहा है। कोरोना के कहर के आगे विकासशील देशों के साथ-साथ विकसित देशों ने भी अपने घूटने टेक दिए हैं। लैटिन अमेरिकी देश इक्वाडोर में भी कोरोना वायरस का आतंक देखने को मिला। आलम ये है कि इक्वाडोर के कई शहर ऐसे हैं जहां हर तरफ लाशों के ढेर लगे हुए हैं और उन्हें उठाने वाला कोई भी नहीं है।

आखिर क्यों कोरोना ने चीन के वुहान से ज्यादा इटली में मचाई तबाही

सड़कों पर पड़ी हुई हैं लाशें

इक्वाडोर की सबसे अधिक आबादी वाले शहर गुआयकिल में कोरोना वायरस के चलते स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह से प्रभावित हुई हैं। अस्पतालों में जहां मरीजों के लिए बेड नहीं है तो वहीं कब्रिस्तान, मुर्दाघर और सड़कों पर लाशों के ढेर लग चुके हैं। पूरे शहर में शायद ही ऐसी कोई जगह बची हो जहां उन लाशों को रखा जा सके। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि उन लाशों को उठाने वाले कोई भी नहीं है।

शंघाई में क्यों नहीं है कोरोना वायरस से संक्रमित लोग, जाने यहां…..

5 दिनों से घरों के आगे पड़ी है लाशें

कोरोना वायरस से मरने वालों की लाशें सड़कों और घरों के आगे कई दिनों से पड़ी हुई हैं। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय लोगों की माने तो घरों के आगे 5 दिनों से लाशें पड़ी हुई हैं। लेकिन सरकार की तरफ से कोई भी उन्हें ले जाने के लिए नहीं आ रहा है। तो वहीं अगर अधिकारियों की माने तो वो अब तक 300 शवों को ऐसे घरों से उठाया जा चुका है। इक्वाडोर में कोरोना वायरस का कहर देखने को मिल रहा है। इक्वाडोर में कोरोना वायरस के अब तक 3,646 मामले सामने आयें हैं। लेकिन कोरोना वायरस से अब तक कितने लोग मरे हैं ये अब तक साफ नहीं हुआ है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है