आर्थिक संकट से जूझ रहे यस बैंक पर एनपीए और बैलेंसशीट में गड़बड़ी के आरोप लगने के बाद रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने सख्ती बरती है।

नोटबंदी के बाद एक बार फिर से देश में एटीएम के बाहर लंबी कतारें देखी जा रही है। लेकिन इस बार वजह Yes Bank का संकट है जो लोगों पर कहर बनकर टूटा है। आर्थिक संकट से जूझ रहे यस बैंक पर एनपीए और बैलेंसशीट में गड़बड़ी के आरोप लगने के बाद रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने सख्ती बरती है। आरबीआई की कार्रवाई के बाद देशभर में यस बैंक के खाताधारकों में हड़कंप मच गया है। आलम ये है कि यस बैंक के एटीएम के बाहर लोगों की लंबी लंबी कतारें देखी जा रही है। अब ऐसे में सवाल ये है कि देशभर में मौजूद यस बैंक के ग्राहक इमरजेंसी की स्थिति से आखिर कैसे निपटेंगे? तो चलिए इसके बार में भी जान लेते हैं.

लोगों पर कहर बनकर टूटा Yes Bank का संकट, जानिए क्या है पूरा मामला

इमरजेंसी की स्थिति में क्या करें बैंक के खाताधारक

  • Yes Bank के ग्राह‍क मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति में बैंक से 50 हजार से ज्यादा पैसे निकाल सकते हैं
  • ग्राहक शादी और एजुकेशन फीस जैसी जरूरतों के लिए 5 लाख रुपये तक निकाल सकते हैं
  • इसके लिए पैसे निकालने वाले खाताधारक को ठोस सबूत भी देना होगा
  • मतलब ये कि अगर आप कैश निकालने बैंक जाते हैं तो आपको पूरे सबूत के साथ बैंक जाना होगा
  • आप ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन भी कर सकते हैं
  • RBI की ओर से Yes Bank के नेटबैंकिंग या मोबाइलन बैंकिंग को लेकर कोई नई गाइडलाइन जारी नहीं की गई है
  • ऐसे में आप तय लिमिट के साथ पहले की तरह ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन कर सकते हैं

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं