स्टेनलेस स्टील कंपनी विराज प्रोफाइल लिमिटेड में हो रहा है मजदूरों की जान से खिलवाड़

स्टेनलेस स्टील कंपनी Viraj Profiles Ltd ( विराज प्रोफाइल लिमिटेड ) में हो रहा है मजदूरों की जान से खिलवाड़

देश में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे प्रकोप के चलते पीएम मोदी ने 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया। जिसके चलते देश में सभी ऐसी कंपनियों, मिल, कारखानों को बंद करने का ऐलान किया जिनमें भारी संख्या में मजदूर काम करते हैं और सिर्फ उन फैक्ट्रीयों को काम करने की इजाजत है जिनमें रोर्जमरा की वस्तुओं का उत्पादन होता है। बावजूद इसके महाराष्ट्र के बोईसर में स्टेनलेस स्टील निर्मात कंपनी विराज प्रोफाइल लिमिटेड अपने 500 से 600 मजदूरों की जान के साथ खिलवाड़ कर उनसे जबरन काम करा रही है। ये वही महाराष्ट्र है जहां कोरोना ने सबसे ज्यादा कोहराम मचाया हुआ है।

 

एबीस्टार की राज्य सरकारों से अपील दैनिक उपभोग की आवश्यक वस्तुओं की हो “डोर स्टेप डिलीवरी”

जानकारी के मुताबिक कंपनी के वरिष्ठ प्रबंधक अपनी एचआर टीम के साथ मजदूरों से मिलने गए और कर्मचारियों पर कंपनी चालू रखने और काम करने का दबाव बनाने लगे। ये बात भी निकलकर सामने आ रही है कि कंपनी के अधिकारी स्थानीय नेताओं के साथ मिलकर मजदूरों की जान के साथ खिलावाड़ कर रहे हैं… यहां सवाल ये उठता है कि जब देश में  कोरोना रुपी वैश्विक महामारी तेजी से फैलती जा रही है तो ऐसे में कंपनी मनमानी करते हुए कैसे काम जारी रख सकती है और भारत सरकार ने लॉकडाउन के दौरान सिर्फ उन कंपनियों के काम को जारी रखने के लिए कहा है जो दैनिक जीवन में उपयोग होने वाली जरूरी वस्तुएं बनाती हैं। लेकिन विराज प्रोफाइल लिमिटेड कंपनी ऐसा कोई उत्पाद नहीं बनाती है जो लोगों की जिंदगी की जरूरी रोजमर्रा की वस्तुओं से जुड़ा हो। इसके बावजूद भी कंपनी में धड़ल्ले से काम जारी है। जिससे कोरोना वायरस के बढ़ने का खतरा भी लगातार बढ़ता जा रहा है। क्योंकि 500 से 600 मजदूर कंपनी में काम कर रहे हैं और महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस के मरीज मिले हैं।

कोरोना संकट: देश में 21 दिन के लॉकडाउन में नियम तोड़ने वालों को 2 साल तक की जेल

महाराष्ट्र को कोरोना वायरस धीरे धीरे अपनी जद में ले रहा है। सवाल ये भी है कि महाराष्ट्र जैसे राज्य में इस तरह की कंपनी में कोरोना वायरस और लॉकडाउन को नजरअंदाज करते हुए काम चल रहा है और वहीं प्रशासन इससे बेखबर है या फिर जानबूझकर इसे नजरअंदाज कर रहा है। इतने लोगों के एक कंपनी में काम करने के बावजूद भी किसी को इसकी कानों-कान खबर नहीं है। क्या वहां के उच्च अधिकारियों को इस बारे में जानकारी नहीं है या फिर वो मूकदर्शक बनकर तमाशा देख रहे हैं। अगर वहां का प्रसाशन लापरवाही कर रहा है तो ये वहां के मजदूरों और देशवासियों की जान के साथ भी खिलावाड़ हो रहा है। हमारे सूत्रों से हमें कुछ ऐसी वीडियो फुटेज मिली है जिनमें ये साफ देखा जा सकता है कि लॉकडाउन के दौरान भी किस तरह से फैक्ट्री में जबरन मजदूरों से काम करवाया जा रहा है। इसके अलावा वीडियो में सुरक्षाकर्मी भी वर्दी पहने साफ नजर आ रहा है। वीडियो में कितनी सच्चाई है इसके लिए एबीस्टार न्यूज वीडियोज की प्रमाणिकता की गंभीरता से जांच कर रहा है।

 

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं