अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा

0
197
अमेरिकी राष्ट्र पति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर प्रशंसा

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने पीएम मोदी को बताया महान नेता, कोरोना के खिलाफ जंग के लिए मांग रहे है भारत से मदद।

कोरोना वायरस ने दुनियाभर में अपने पैर पसार लिए हैं। जिसके कारण कोरोना के मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही हैं। अभी तक दुनियाभर में करीब 14 लाख लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का संख्या 5000 का आकड़ा पार कर गया हैं। इसी बीच कोरोना से लड़ने के लिए अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने भारत से मदद मांगी हैं।

बता दें कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर प्रशंसा की है और उन्हें एक महान नेता बताया है। डोनाल्‍ड ट्रंप ने अमेरिकी मीडिया से भारत से हाइड्रोऑक्‍सीक्‍लोरोक्‍वीन (Hydroxychloroquine) दवा मांगने के मसले पर बात की। डोनाल्‍ड ट्रंप ने अमेरिकी मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि हमने इस दवा की लाखों डोज खरीदने का फैसला किया है। ट्रंप ने बताया कि हमारे पास इसकी अभी 29 मिलियन डोज हैं। ड्रंप ने आगे बताते हुए कहा कि मैंने इस दवा के लिए पीएम नरेंद्र मोदी से बात की थी। मैंने पीएम मोदी से कहा था कि क्‍या वह हमारे लिए इसको रिलीज करेंगे?

‘दंगल गर्ल’ ने PM Modi को कहा- ‘आपको नींद कैसे आ जाती है…’

इस बात को लेकर ड्रप ने फिलहाल ये भी कहा कि हमको ये दवा बड़ी मात्रा में भारत से मिलने की उम्‍मीद भी है। पीएम मोदी वास्‍तव में महान नेता हैं। ड्रप ने आगे बताते हुए कहा कि, भारत ने वैसे अपनी जरूरतों को मध्य नजर रखते हुए इस दवा के निर्यात पर अभी पाबंदी लगा रखी है लेकिन मुझे उम्‍मीद है कि वहां से जल्‍दी ही अच्‍छी खबर मिलेगी।

 

दरअसल कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए अमेरिका ने भारत से ‘हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन’ दवा की मांग की है। इस पर भारत ने मंगलवार को जवाब देते हुए साफ शब्‍दों में कहा कि ‘देश की घरेलू जरूरतों को पूरा करने के बाद इस दवा की उपलब्‍धता को देखते हुए फैसला किया जाएगा’।

बॉलीवुड के सितारों से खुश होकर PM Modi ने Tweet कर कही ये बड़ी…

इसके बाद विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि, ‘कोरोना वायरस जैसी महामारी को देखते हुए मानवीय आधार पर भारत ने फैसला किया है कि हमारी क्षमताओं पर निर्भर रहने वाले पड़ोसियों देशों को पैरासीटमॉल और हाइड्रोक्‍सीक्‍लोरोक्‍वीन दवाएं भेजी जाएंगी। साथ ही भारत ने ये भी कहा गया कि हम इन दवाओं की सप्‍लाई उन देशों को भी करेंगे जोकि कोरोना महामारी से सबसे ज्‍यादा प्रभावित हैं’। जिसे इस दवा का प्रयोग करके लोगों को बचाया जा सकता हैं।

पिछले 6 सालों में कितनी चमकी काशी, PM Modi जब बने शिल्पकार

आपको बता दें कि, ‘हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन’ मलेरिया की एक पुरानी और सस्ती दवा है। इस दवा को ट्रंप कोरोना के इलाज के लिए एक काफी बेहतर उपचार बता रहे हैं। जिसे कोरोना से संक्रमितों लोगों का उपचार हो सकता हैं। अमेरिका में कोरोना से लोगों की मौत की संख्या 10,000 से अधिक हो गई हैं। तो साथ ही करीब साढ़े तीन लाख लोग इस वायरस से संक्रमित हैं।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है