कोरोना: तिहाड़ जेल प्रशासन ने 400 से ज्यादा कैदियों को

कोरोना के प्रकोप को देखते हुए तिहाड़ जेल प्रशासन ने 400 से ज्यादा कैदियों को छोड़ा दिया है।

देश में कोरोना की मार को कम करने के लिए केंद्र के साथ ही राज्य सरकारें जरूरी कदम उठा रही है ताकि लोगों को थोड़ी राहत मिल सके। इस बीच दिल्ली दिल्ली की तिहाड़ जेल से 28 मार्च को 356 कैदियों को अंतरिम जमानत पर रिहा किया गया है, अंतरिम जमानत 45 दिनों के लिए होगी। वहीं, 63 कैदियों को आपातकालीन पैरोल पर रिहा किया गया है। जो 8 हफ्ते के लिए होगा। तिहाड़ जेल प्रशासन द्वारा यह फैसला बैरक से भीड़ कम करने के लिए लिया गया है।

प्रधानमंत्री की अपील का असर

यूपी में भी 11 हजार कैदियों की 8 हफ्ते के लिए रिहाई

यूपी की योगी सरकार ने सूबे की जेलों में बंद 11 हजार कैदियों को 8 सप्ताह के लिए निजी मुचलके पर रिहा करने का ऐलान किया है। ये ऐलान सात साल से कम सजा पाने वाले अपराधियों के लिए किया गया है। इस ऐलान के बाद जेल में बंद इन कैदियों की रिहाई सोमवार से शुरू हो जाएगी। ध्यान हो इससे पहले महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने वायरस के चलते जेल में बंद कैदियों को रिहा करने का ऐलान किया था।

आपको बता दें दें कि दुनिया भर में कोरोना वायरस से  पीड़ित लोगों की संख्या 6 लाख 49 हजार से ज्यादा हो चुकी है, जिनमें से 30 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गवा चुके हैं। वैश्विक महामारी का रूप ले चुका यह वायरस इटली में 10 हजार से ज्यादा लोगों को मौत की नींद सुला चुका है।

पीएम मोदी बोले- आप सभी को जो कठिनाई हुई है उसके लिए मैं क्षमा मांगता हूं

संपूर्ण देश में लॉकडाउन घोषित

 दुनिया में कोरोना के बढ़ते कहर के कारण पूरे देश में लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है। जिसके बाद से देशभर में मजदूरों का अपने-अपने घर जाना एक बड़ी चुनौती बनकर सामने आया है। खासकर दिल्ली एनसीआर का हाल बुरा है, जहां रिक्शाचालक, मजदूर और फैक्ट्री कर्मचारी अपने-अपने गांव की ओर लौटने के लिए हजारों की तादाद में निकल पड़े हैं।