Yes Bank : नहीं डूबेंगे खाताधारकों के पैसे, SBI ने मदद के लिए बढ़ाए हाथ

0
15

SBI कर्ज में डूबे यस बैंक की 49 फिसदी हिस्सेदारी लेने की तैयारी कर रहा है।

आर्थिक संकट से जूझ रहे Yes Bank पर आरबीआई की पाबंदी के बाद पूरे देश में हड़कंप मच गया है। आरबीआई की कार्रवाई के बाद Yes Bank के खाताधारकों के मन मे भी डर का माहौल पैदा हो गया है। इन सब के बीच यस बैंक के खाताधारकों के लिए एक अच्छी ख़बर है। एसबीआई कर्ज में डूबे यस बैंक की 49 फिसदी हिस्सेदारी लेने की तैयारी कर रहा है। लेकिन यहां से ये जानना बेहद दिलचस्प होगा कि क्या एसबीआई के इस कदम से यस बैंक की आर्थिक स्थिति में कुछ सुधार होगा।

SBI ने क्लर्क सहित कई पदों के लिए निकाली वैकेंसी, आवेदन प्रक्रिया शुरू

दूर होगा खाताधारकों का संकट

कर्ज में डूबे यस बैंक को इस संकट से बाहर निकालने के लिए लगभग 20 हजार करोड़ रुपये की जरुरत है। ऐसे में अगर एसबीआई यस बैंक की 49 फिसदी हिस्सेदारी खरीद लेता है तब भी यस बैंक को इस संकट से उभरने के लिए 17 हजार करोड़ रुपये जरुरत पड़ेगी। ऐसे में अगर एसबीआई के अलावा कोई दूसरा निवेशक यस बैंक में निवेश करता है तो यस बैंक को इस स्थिति से बाहर निकाला जा सकता है। एसबीआई यस बैंक में 2450 करोड़ रुपये निवेश करने की तैयारी में है। मुंबई में हुई प्रेस कांफ्रेंस में एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने इस बात की जानकारी दी। इसके अलावा रजनीश कुमार ने कहा कि यस बैंक के खाताधरकों को घबराने की कोई जरुरत नहीं है। कुछ ही दिनों में खाताधारकों का संकट दूर हो जाएगा।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं