कोरोना के कारण आधे घंटे खड़ी रही राजधानी एक्सप्रेस, दो संदिग्धों की जांच

एक विदेशी नागरिक के कोरोना से संक्रमित होने की अफवाह फैल गई, जिसके बाद ट्रेन में अफरा तफरी मच गई।

भारत के लोगों में कोरोना वायरस का खौफ दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। कोरोना के वैश्विक महामारी घोषित होने के बाद लोगों के अंदर डर इस कदर फैल गया है कि किसी भी विदेशी मेहमान को देखते ही लोग उनपर संदेह करने लगे हैं। कुछ ऐसा ही देखने को मिला है हावड़ा से दिल्ली आ रही राजधानी एक्सप्रेस में, जब एक विदेशी नागरिक के कोरोना से संक्रमित होने की अफवाह फैल गई, जिसके बाद ट्रेन में अफरा तफरी मच गई। ये घटना बिहार की राजधानी पटना की है।

आज 400 से ज्यादा ट्रेनें रद्द, यहां देखें पूरी लिस्ट

दरअसल, हावड़ा से दिल्ली जा रही राजधानी एक्सप्रेस के A-5 कोच में सीट नंबर 8 और 10 पर रूस के दो नागरिक यात्रा कर रहे थे। तभी कुछ यात्रियों ने इन दोनों को कोरोना का पेशेंट समझ लिया और जिसके बाद पूरे बोगी में हंगामा मच गया। यह सब देख दोनों विदेशी नागरिक घबराने लगे। हालांकि, यात्रियों के हंगामें के बाद रेलवे पुलिस और मेडिकल टीम पहुंची। पुलिस ने लोगों को समझाया और मेडिकल टीम ने दोनों रूसी नागरिक की जांच की, जिसमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं पाया गया। करीब आधे घंटे तक चले इस ड्रामे के बाद ट्रेन को पटना जंक्शन से रवाना किया गया।

राजधानी एक्सप्रेस पहुंची डॉक्टरों की टीम 

एक रिपोर्ट से मिली जानकारी के मुताबिक, यात्रिय़ों के हंगामे के बाद मौके पर पहुंची डॉक्टरों की टीम ने दोनों रूसी नागरिक की जांच की। जांच के बाद डॉक्टरों ने बताया कि यात्रियों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं। जिसके बाद इन दोनों यात्रियों को आगे की यात्रा करने की अनुमति दी गई। वहीं पूर्व मध्य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी का कहना है कि विदेशी नागरिकों को देख कर कुछ यात्री घबरा गए थे। हालांकि, डॉक्टरों की जांच के बाद इन यात्रियों में कोरोना का कोई लक्षण नहीं मिला। अधिकारी ने बताया कि कुछ लोग इतने परेशान हो गए थे कि उन्हें अपनी जगह से शिफ्ट करके दूसरी जहग भेज दिया गया। यात्रियों की व्यवस्था के बाद ही ट्रेन को स्टेशन से खोला गया।

महीने में सिर्फ एक बार धोया जाता है ट्रेनों में मिलने वाला कंबल!

रेलवे के अधिकारी ने बताया कि जरूरत पड़ने पर दिल्ली में भी इन यात्रियों की कोरोना संबंधी जांच की जा सकती है। इसी के मद्देनजर दोनों की जांच की गई। आपको बता दें कि रूस के ये दोनों नागरिक 27 फरवरी को भारत आए थे। ये दोनों ही हावड़ा से दिल्ली आ रहे थे, जहां से इन्हें अपने देश वापस जाना था। गौरतलब है कि इससे पहले भी बिहार के छपरा में बीते शनिवार को वहां के स्थानीय लोगों ने केन्या से आए दो एथलीटों को कोरोना के संदेह में पकड़ लिया था। लोगों को शक था कि ये लोग कोरोना से पीड़ित हैं। हालांकि, पुलिस के दखल के बाद दोनों केन्याई नागरिकों को छोड़ दिया गया।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं