कोरोना काल के बीच Parle G ने बिक्री के मामले में 80 साल का तोड़ा रिकॉर्ड

Parle G का नाम शायद ही कोई इंसान हो जिसने न सुना हो। आज एक से बढ़कर एक बिस्कुट मार्किट में मौजूद हैं बावजूद इसके Parle G की वैल्यू कम नही हुई। आज सोशल मीडिया पर Parle G कंपनी का नाम ट्रेंड कर रहा है दरअसल, कंपनी ने फैसला किया है कि वह न्यूज चैनलों पर अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन नहीं करेगी और यह कदम सोशल मीडिया यूजर्स को खूब पसंद आया। इसके बाद ट्विटर पर #ParleG ट्रेंड करने लगा।

कोरोनावायरस महामारी के बीच पारले जी ने बिक्री के मामले में 80 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया और सोशल मीडिया पर इसकी खूब चर्चा हुई। अब पारले जी कंपनी का नाम सोशल मीडिया पर एक बार फिर ट्रेंड कर रहा है। बता दें कि प्रमुख विज्ञापनदाताओं और मीडिया एजेंसियों का कहना है कि वे इसपर बारीकी से नजर रख रहे हैं। इसके बार पारले जी ने यह फैसला किया है। पारले जी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कंपनी समाज में जहर घोलने वाले कंटेट को प्रसारित करने वाले समाचार चैनलों पर विज्ञापन नहीं देगी।

इंडियन सिविल लिबर्टीज यूनियन ने ट्विटर पर ParleG के इस फैसले की घोषणा की है और बताया है, “पारले प्रोडक्ट्स ने जहरीली आक्रामक सामग्री प्रसारित करने वाले समाचार चैनलों पर विज्ञापन नहीं देने का फैसला किया है। ये चैनल उस प्रकार के नहीं हैं, जिस पर कंपनी पैसा खर्च करना चाहती है, क्योंकि यह उसके लक्षित उपभोक्ता नहीं है। बजाज और पारले की अगुवाई में अन्य कंपनियों के जुड़ने का समय आ गया है।”

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है