अब लखनऊ में कोरोना का असर, पटना में 4 संदिग्ध मामले

पूरी दुनिया में अपना कहर बरसा रहा कोरोना अब लखनऊ पहुंच गया है। पटना में भी 4 संदिग्ध मामले सामने आए हैं।

पूरी दुनिया में अपने पैर पसार चुका कोरोना वायरस अब उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी पहुंच गया है। लखनऊ में कोरोना वायरस के पहला मामला सामने आया है। इस मामले के सामने आने के बाद से ही भारत में इस वायरस के संक्रमित लोगों की संख्या 61 हो गई है। ये वायरस कनाडा से लखनऊ अपने रिश्तेदारों से मुलाकात करने आई एक महिला में कोरोना की पुष्टि हुई है। हालांकि, पीड़ित महिला के पति की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वायरस से पीड़ित महिला को केजीएमयू के आईसोलेशन वॉर्ड मे रखा गया है। वायरस के इस बढ़के कहर के कारण ही लखनऊ में इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ मैनेजमेंट (आईआईएम) के दीक्षांत समारोह को टाल दिया गया है। याद हो कि आईआईएम बैंगलूरू समेत अन्य संस्थानों ने भी इससे पहले समारोह कैंसिल किये थे।

शेयर बाजार पर कोरोना का कहर, सेंसेक्स-निफ्टी में भारी गिरावट

पटना में मिले चार संदिग्ध

बता दें, लखनऊ के साथ ही पटना के PMCH (पीएमसीएच) और NMCH (एनएमसीएच) में इस वायरस के दो-दो पीड़ित भर्ती हुए हैं। PMCH (पीएमसीएच) में एडमिट एक संदिग्ध औरंगाबाद तो वहीं दूसरा समस्तीपुर का है। इन पीड़ित लोगों की उम्र 30 और 45 साल है, जबकि एनएमसीएच में भर्ती 30 वर्षीय महिला राजस्थान के ब्रम्ह स्थान मंदिर से लौट कर आई है, जबकि इसी वायरस से पीड़ित 24 वर्षीय युवक दिल्ली से आया है। इनकी जांच के नमूने RMRI (आरएमआरआई) भेजे गए है।

आईटीबीपी ने बनाए चार और सेंटर

बता दें, इस घातक वायरस से पीड़ित लोगों को 14 दिनों तक अलग रखने के लिए आईटीबीपी ने चार और सेंटर बनाए हैं। ये सेंटर बीटीसी, किमिन, शिवगंगई और कारेरा में सेंटर बने है। यहां आपको ये बता दें कि बीटीसी में 580 संदिग्धों, शिवगंगई में 300 संदिग्धों, किमिन में 210 संदिग्धों और कारेरा में 180 संदिग्धों को रखने की व्यवस्था की गई है.

AB STAR NEWS के  ऐप को डॉउनलोउड  कर सकते. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं