लखनऊ हिंसा: 27 लोगों पर पुलिस ने लगाया गैंगस्टर एक्ट

लखनऊ में 19 दिसंबर को CAA के विरोध में हुए प्रदर्शन के आरोपियों पर पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट लगाया है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में CAA (नागरिकता संशोधन कानून) के विरोध में हुए हिंसक प्रदर्शन के आरोपियों पर यूपी पुलिस ने सख्ती अपनाते हुए गैंगस्टर एक्ट लगाया है। बता दें, पिछले साल 19 दिसंबर को सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में प्रदर्शन हुए थे। जिन्होंने हिंसक रूप अख्तियार कर लिया था।

27 आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट

पुलिस कमिश्नरेट लखनऊ से जारी एक बयान के मुताबिक, “19 दिसंबर को हिंसक उपद्रव में नामजद और सामने आए 27 आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है”। पुलिस ने अपने प्रेस नोट में इस सभी 27 आरोपियों के नाम के साथ ही उनके पिता का नाम भी उजागर किया है। पुलिस ने आरोपों की सूचना देते हुए कहा, “आरोपियों ने चौकी सतखंडा फारूखी मस्जिद कासिम अली पुलिया हुसैनाबाद पर और दूसरे सरकारी संस्थानों पर तोड़ फोड़ की’। बता दें पुलिस ने लूटपाट और आगजनी का आरोप भी इन पर लगाया है।

उत्तर प्रदेश में मौत के बादल, 13 जिलों में 28 की मौत

पुलिस ने उपद्रवियों पर आरोप लगाया है कि उन्होंने पुलिस पार्टी पर फायरिंग करते हुए जान से मारने की नीयत से चौकी को आग के हवाले कर दिया था। इसके साथ ही पुलिस के अनुसार इन लोगों ने निजी और सार्वजनिक वाहनों को भी आग के गोले में तबदील कर दिया था।

गंभीर किस्म का है अपराध

पुलिस ने विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा को गंभीर किस्म का अपराध कहा है। उन्होंने कहा कि इससे जनता में अफरा-तफरी का माहौल पैदा हुआ, कानून व्यवस्था पर भी इसका गंभीर असर पड़ा। हालांकि, बाद में पुलिस ने आरोपियों के विरूद्ध मामला दर्ज किया था। पुलिस का कहना है कि जांच के दौरान कई अभियुक्तों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस का आरोप है कि आरोपियों द्वारा सुनियोजित तरीके से कानून-व्यवस्था को ध्वस्त करने का काम किया गया है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं