कोरोना वायरस: इंदौर में बदले कलेक्टर और DIG, मनीष सिंह बने कलेक्टर

0
39

कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा पॉजिटिव मरीज इंदौर में पाए गए हैं। वहीं कलेक्टर और DIG को हटा दिया गया है।

मध्य प्रदेश में Coronavirus (कोरोना वायरस) के पहले मामले के बाद, वायरस तेजी से फैल रहा है। जिसके बाद Indore (इंदौर) में भी संक्रमण की संख्या बढ़ रही है। Cm Shivraj Singh Chouhan (मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान) ने लापरवाही के लिए इंदौर कलेक्टर Lokesh Kumar Jatav (लोकेश कुमार जाटव) और डीआईजी Ruchi Vardhan Mishra (रूचिवर्धन मिश्रा) को हटा दिया गया है। बता दें कि कोरोना के सबसे ज्यादा पॉजिटिव मरीज इंदौर में पाए गए हैं।

कोरोना संकट के बीच सुरेश रैना ने दान किए 52 लाख रुपये

रविवार को जनता कर्फ्यू के दौरान, लोग रात को नौ बजे इंदौर के राजवाड़ा और मालवा मिल पहुंचे थे और प्रशासन कुछ नहीं कर रही थी। इसके बाद, कलेक्टर और डीआईजी ने लॉकडाउन के दौरान अपने कर्तव्यों का अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। अब मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के एमडी Manish Singh (मनीष सिंह) को Indore (इंदौर) का कलेक्टर बनाया गया है, जबकि खरगोन के डीआईजी Harinarayanchari Mishra (हरिनारायणचारी मिश्र) को इंदौर की कमान सौंपी गई है। जाटव को मंत्रालय में सचिव बनाया गया है, जबकि Ruchi Vardhan Mishra (रूचिवर्धन मिश्र) को पुलिस मुख्यालय में तैनात किया गया है।

कोरोना वायरस के चलते 11 हजार बंदियों को पैरोल या बेल पर छोड़ेगी यूपी सरकार

इसके अलावा, कयास लगाए जा रहे हैं कि भाजपा नेताओं की नाराजगी भी कलेक्टर और डीआईजी के तबादले का कारण है। दरअसल, KamalNath (कमलनाथ) सरकार के तहत भू-माफियाओं के खिलाफ राज्यव्यापी अभियान के दौरान, इन अधिकारियों ने जिले में भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई की थी। हनी ट्रैप मामले में भी पार्टी नेताओं ने भाजपा नेता और कार्यकर्ताओं पर माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई के लिए एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाया था।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं