सोमवार को एक दिन में आए कोरोना वायरस के 227 मामले, आने वाले 15 दिन अहम

कोरोना के खतरे को लेकर भारत एक निर्धारित चरण पर पहुंच चुका है। जिसके बाद अब आने वाले 15 दिन काफी अहम होंगे।

भारत में कोरोना के प्रकोप को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के बाद भी इस वायरस से संक्रमित लोगों का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। सोमवार को इस वायरस से संक्रमित 227 नए मामले सामने आए हैं जिससे सरकार की चिंता और बढ़ गई है।

अगले 15 दिन बेहद भारत के लिए अहम

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, भारत के लिए अगले 15 दिन बेहद ख़ास माने जा रहे हैं। क्योंकि भारत 1200 केस पार करने के साथ ही उस मुकाम पर पहुंच गया है, जहां इटली 29 फरवरी, स्पेन 9 मार्च को और 11 मार्च को अमेरिका थे। इस इस आंकड़े (1200 केस) पर पहुंचने के बाद तीनों ही देशों में अगले 15 दिन संक्रमण के केस 25 से 68 गुना की बढ़ोतरी से बढ़े थे। अमेरिकी में तो राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अब तक लॉकडाउन का ऐलान ही नहीं किया है।

कोरोनावायरस: इन सितारों ने पीएम राहत कोष में दिए इतने रुपए दान

भारत में विकसित देशों से कम संक्रमण की गति

स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी देते हुए कहा कि विकसित देशों की तुलना में भारत में कोरोना के संक्रमण की दर काफी कम है। भारत में इस वायरस के संक्रमण का दूसरा दौर ही जारी है, अभी अपने तीसरे चरण में नहीं पहुंचा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया, “भारत में संक्रमित मरीजों की संख्या 100 से 1000 तक पहुंचने में 12 दिन लगे, जबकि इस संकट से जूझ रहे विकसित देशों में इस अवधि में मरीजों की संख्या 3,500 से 8,000 थी”।

संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के असर के विश्लेषण के आधार पर बताया की  विकसित देशों की तुलना में भारत में संक्रमण के बढ़ने की गति कम है। उन्होंने कहा, “भारत में संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी से जुड़े आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि देश में संक्रमण के मामले 100 से 1000 तक पहुंचने में 12 दिन लगे। जबकि विकसित देशों में इस अवधि में संक्रमित मरीजों की संख्या 3,500 से 8,000 तक पहुंच गयी। इससे स्पष्ट है कि भारत में इसके संक्रमण की दर तुलनात्मक रूप से कम है”।

विपक्ष के निशाने पर योगी सरकार, मजदूरों पर सैनिटाइजर छिड़कना पड़ा भारी

दिल्ली-नोएडा में 31 नए मामले

सोमवार को राजधानी दिल्ली और नोएडा में 31 नए मामले सामने आए। राजधानी में जहां एक दिन में सबसे ज्यादा 25 नए केस सामने आए। तो वहीं, नोएडा में दो बच्चों समेत छह लोगों में इस घातक वायरस की पुष्टि की गई। इसमें तीन परिवार के पांच सदस्य हैं शामिल हैं।

लॉकडाउन बढ़ने के मैसेज केवल अफवाह’

केंद्र सरकार ने सोशल मीडिया में देशव्पापी लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने को लेकर जारी संकेतों को महज अफवाह बताया है। केंद्र सरकार ने स्पष्ट किया है कि ऐसी कोई पूर्व निर्धारित योजना नहीं है। कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने कहा, “महामारी फैलने से रोकने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर जुटी हैं”। गौबा ने सोमवार को कहा, “मैं इस तरह की खबरों से हैरान हूं, सरकार की लॉकडाउन बढ़ाने की कोई योजना नहीं है”। उन्होंने कहा, “सरकार लॉकडाउन के दौरान लोगों तक जरूरी सामान पहुंचाने की हर संभव कोशिश कर रही है। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी। ये अवधि 14 अप्रैल को पूरी होगी”।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं