रिसर्चः इस ब्लड ग्रुप के लोगों पर ज्यादा रहता है कोरोना का डर, यहां जाने

0
45

रिसर्च में आया सामने इस ब्लड ग्रुप के लोगों को ज्यादा रहता है कोरोना वायरस का खतरा, इनको कम

चीन से फैसे कोरोना वायरस (कोविड-19) को लेकर चीन के हुबेई प्रांत जिनइंतान अस्पताल शोधकर्ताओं ने नया खुलासा किया है। शोधकर्ताओं ने बताया है कि किस ब्लड ग्रुप के इंसानों को कोरोना वायरस ज्यादा प्रभावित करता है। इस रिसर्च से सामने आया है कि ब्लड ग्रुप ए (Blood Group A) कोरोना वायरस से ज्यादा जल्दी संक्रमित हो सकता है, बल्कि ब्लड ग्रुप ओ (Blood Group O) का व्यक्ति संक्रमित होने में थोड़ा ज्यादा समय लेता है। वैज्ञानिकों ने ये खुलासा वुहान में किया। बता दें वुहान चीन के हुबेई प्रांत की राजधानी है। यहीं से पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (कोविड-19) का संक्रमण फैला है। वैज्ञानिकों ने वुहान में कोरोना वायरस से संक्रमित 2173 लोगों पर अध्ययन किया। इनमें से 206 लोगों की मौत इस वायरस के कारण हुई थी। ये लोग हुबेई प्रांत के तीन अस्पतालों में भर्ती थे।

आम सर्दी-जुकाम से कितना अलग है Corona Virus ? जानिए

बता दें, इस वायरस की वजह से जान गवाने वाले 206 लोगों में से 85 लोगों का ब्लड ग्रुप ए (A) था, यानी करीब 41 फीसदी। जबकि, 52 लोगों का ब्लड ग्रुप ओ (O) था, यानी करीब 25 फीसदी। 2173 लोगों में से ब्लड ग्रुप ए (A) वाले लोग अधिक पीड़ित थे। इसमें से 32 फीसदी ब्लड ग्रुप ए (A) के थे जबकि 26 प्रतिशत ही ब्लड ग्रुप ओ (O) वाले लोग थे। जांच में शामिल किए गए सभी लोगों में से 38 फीसदी लोग ब्लड ग्रुप ए (A) के संक्रमित हुए थे, जबकि ब्लड ग्रुप ओ (O) के सिर्फ 26 फीसदी लोग ही इस घाटत वायरस से प्रभावित हुए थे। ध्यान हो, शोधकर्ताओं ने अपनी जांच से ये नतीजा निकाला कि ब्लड ग्रुप ओ के कोरोना वायरस से मरने की आशंका बाकी ब्लड ग्रुप से काफी कम है। साथ ये लोग इस वायरस से संक्रमित भी देर से होते हैं। वहीं, ब्लड ग्रुप ए वाले लोगों की इस वायरस से मरने की आशंका ज्यादा है।

वैज्ञानिकों ने ये भी कहा है कि जब सार्स-सीओवी-2 (SARS-COV-2) का हमला हुआ था, तब भी ब्लड ग्रुप ओ के लोग कम बीमार हुए थे, जबकि बाकी ब्लड ग्रुप के लोग अधिक प्रभावित हुए थे। हालांकि अभी तक इस रिसर्च का रिव्यू नहीं हुआ है लेकिन चीन तियानजिन स्थित स्टेट की लेबोरटरी ऑफ एक्सपेरिमेंटल हीमैटोलॉजी के वैज्ञानिक गाओ यिंगदाई ने कहा, ‘यह रिसर्च इस बीमारी का इलाज खोजने में मदद करेगी’। गाओ यिंगदाई ने कहा, ‘अगर आपका ब्लड ग्रुप ए है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है. इसका मतलब ये नहीं है कि आप 100 फीसदी कोरोना से संक्रमित हो ही जाएंगे. ब्लड ग्रुप ओ वाले भी लापरवाही न बरतें’।

Corona Virus: संभल जाइए, इम्यूनिटी कमजोर करती हैं खाने की ये चीजें   

आपको बता दें, इससे पहले भी कई अध्ययन आ चुके हैं कि ब्लड ग्रुप ए (A), बी (B) और एबी (AB) वालों को ब्लड ग्रुप ओ (O) की तुलना में दिल से जुड़ी पेरशानियां होने का खतरा ज्यादा रहता है। शोधकर्ताओं ने कहा, “अगर ज्यादा लोगों पर यह अध्ययन किया जाएगा तो आंकड़े और सही आएंगे. फिलहाल दुनिया भर में कोरोना वायरस की वजह से 187,725 लोग संक्रमित हैं. जबकि, 7822 लोगों की मौत हो चुकी है”।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं