Chanakya Niti: ये 5 बातें बनाती है आपको कामयाब लीडर

0
32

समाज में मौजूद लोग ईमानदार लोगों की शराफत का फायदा उठाते हैं।

अपनी नीतियों के लिए मशहूर आचार्य चाणक्य ने कुशल नेतृत्व यानी कामयाब लीडर बनने के लिए  कई रास्ते बताए हैं। अगर आप भी कामयाब लीडर बनने की चाहत रखते हैं तो चलिए आपको बताते है सफल नेतृत्व के लिए क्या कहते हैं चाणक्य?

  • एक कामयाब लीडर बनने को लेकर माना जाता है कि उसे खुद की गलतियों से सीख लेनी चाहिए। जब्कि आचार्य चाणक्य की माने तो व्यक्ति गलतियों से तो सीखता है लेकिन उसकी कोशिश ये होनी चाहिए कि उसे खुद के साथ ही दूसरों की भी गलतियों को देखकर उनसे सीख लेने की जरूरत है। दूसरों की गलतियों से सीख लेना एक सफल लीडर के लिए बेहद अहम है। ऐसा करने वाला शख्स बहुत जल्द अपने लक्ष्य को प्राप्त करता है।
  • आचार्य चाणक्य के माने तो एक नेता के लिए ईमानदारी दिखाना भी बहुत ज्यादा जरूरी नहीं होता। चाणक्य की माने तो सीधे खड़े पेड़ों को काटने का काम सबसे पहले होता है। ठीक उसी तरह सीधे और ईमानदार लोगों को भी सबसे पहले नुकसान की भरपाई करनी पड़ती है। समाज में मौजूद लोग ईमानदार लोगों की शराफत का फायदा उठाते हैं। यही कारण है कि चाणक्य ईमानदारी के साथ ही सतर्कता को भी जरूरी मानते हैं।

Chanakya Niti: अगर मान ली ये 5 बातें, भविष्य में नहीं होगी कभी पैसे…

  • चाणक्य का ये भी कहना है कि एक अच्छे नेता के लिए कर्म थ्‍योरी काफी मायने रखती है। चाणक्‍य ने धार्मिक शास्‍त्रों को अत्यंत महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि कर्म थ्‍योरी को कभी भी कम नहीं आकना चाहिए। लोगों के भाग्य उनके कर्मों के आधार पर ही निर्भर करते हैं। चाणक्य की माने तो बुरे काम का नतीजा बुरा ही होता है। इसलिए शास्‍त्रों के अनुसार ही कार्य करना चाहिए। चाणक्य की माने तो अपने साथ के लोगों के साथ आप वैसा ही व्यवहार रखें जैसा खुद के लिए आप पसंद करते हैं।
  • एक कामयाब नेता की सफलता उसकी गोपनीयता पर भी निर्भर करती है। चाणक्य की माने तो एक बेहतरीन नेता अपनी सभी गुप्त बातें सभी के साथ नहीं सांझा करता। जीवन में आगे बढ़ने के लिए बनाई जाने वाली रणनीति किसी दूसरे व्यक्ति से सांझा नहीं करनी चाहिए, फिर चाहे बात घर ये जुड़ी हो या व्यपार से।
  • चाणक्य के माने तो अच्छा लीडर वही होता है जो सीखने में कभी पीछे नहीं रहता। चाणक्य कहते हैं अगर कभी किसी दुश्मन से भी सीखने का मौका मिले तो उसे हाथ से गवाना नहीं चाहिए। निरंतर सीखते रहना ही सफलता का रास्ता है।

Chanakya Niti: अगर मान ली ये 5 बातें, भविष्य में नहीं होगी कभी पैसे…

और आखिर में बेहतर नेता वही होता है जो अपनी अच्छाई को कभी नहीं छोड़ता। चाणक्य के अनुसार अच्छाई की खूब सराहना यानी तारीफ करनी चाहिए। चाणक्य कहते हैं कि किसी भी प्रकार की स्थिति में अच्छाई का रास्ता नहीं त्यागना चाहिए। जीवन में कभी किसी को ऐसा कारण नहीं बताना चाहिए कि मजबूरी की वजह से गलत रास्‍ते का चुनाव किया साथ ही गलत रास्तों पर चलने वाले लोगों से भी दूरी बनानी जरूरी है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं