राम मंदिर निर्माण के लिए उद्धव ठाकरे ने किया 1 करोड़ का ऐलान

अयोध्या पहुंकर उद्धव ठाकरे ने कहा, अयोध्या आना मेरे लिए सौभाग्य की बात है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की पद संभालने के 100 दिन पूरे होने पर उद्धव ठाकरे राम लला के दर्शन के लिए अयोध्या पहुंचे। अयोध्या पहुंचकर ठाकरे ने पहले तो राम लला के दर्शन कर उनका आर्शिवाद लिया तो वहीं मंदिर निर्माण को लेकर 1 करोड़ रुपये की धनराशि देने का ऐलान भी किया। बता दें इस दौरान उनके साथ उनके बेटे और मंत्री आदित्य ठाकरे भी रहे। अयोध्या पहुंकर उद्धव ठाकरे ने कहा, अयोध्या आना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। मैं बार-बार अयोध्या आता रहुंगा। उन्होंने कहा कि जगह मिलने पर अयोध्या में महाराष्ट्र भवन का निर्माण करेंगे।  इसके साथ ही ठाकरे ने कहा, “आरती में शामिल होने की इच्छा थी, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से नहीं जा सकता. हालांकि उन्होंने राम मंदिर में पूजा की और रामलला के दर्शन किए”।

भव्य राम मंदिर: भूमिपूजन के साथ शुरू होगा निर्माण कार्य

उद्धव ठाकरे ने कहा, “मैं पहली बार नवंबर 2018 में अयोध्या आया था और अगली बार नवंबर में ही मुख्यमंत्री बन गया. तीसरी बार मैं यहां आया हूं. उद्धव ने कहा कि ट्रस्ट का निर्माण हो गया है. बैंक खाता भी खुल चुका है. मुझे याद है कि बालासाहेब के समय महाराष्ट्र से शिलाएं भेजी गई हैं. मैं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से विनती करता हूं कि महाराष्ट्र से जो राम भक्त आएंगे उनके रहने के लिए जमीन दें. हम महाराष्ट्र भवन बनाएंगे. जब भी मैं यहां आया, कुछ सफलता लेकर गया हूं. मैं फिर आऊंगा”।

Ram mandir के निर्माण की घोषणा संभव, 19 February को राम मंदिर ट्रस्ट की…

विरोध करने वाले संत नजरबंद

आपको बता दें इस दौरान उद्धव ठाकरे का विरोध करने वाले संत महंत और हिंदू महासभा के जिलाअध्यक्ष को नजरबंद किया गया। हिंदू महासभा के महंत परशुराम दास, हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास को भी नजरबंद किया गया हैं। तपस्वी छावनी के संत परमहंस को उनके आश्रम में ही नजरबंद किया गया है। गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे जून साल 2019 में अयोध्या गए थे और भगवान राम की पूजा अर्चना की थी। ठाकरे के साथ ही शिवसेना के 18 सांसद भी अयोध्या गए थे। वहीं आज यानी शनिवार को ठाकरे के अयोध्या पहुंचने से पहले शिवसेना ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, “जनता के मन में अविश्वास की किरणों का रूपांतरण विश्वास की किरणों में करने का कमाल ‘ठाकरे सरकार’ने 100 दिनों में कर दिखाया जबकि कुछ लोग (बीजेपी) दावा कर रहे थे कि उद्धव सरकार 80 दिन से ज्यादा नहीं चलेगी”।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं