कोरोना पर राहुल ने की पीएम मोदी की सराहना

0
46

मोदी सरकार के कोरोना राहत पैकेज पर पीएम मोदी को मिला राहुल गांधी का समर्थन, बोले- सही दिशा में पहला कदम

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऐलान का समर्थन किया है। बता दें, कोरोना वायरस से जूझ रहे देशवासियों के लिए केंद्र सरकार ने गुरुवार को बड़ा ऐलान करते हुए लॉक डाउन से प्रभावित गरीब किसान, गरीब महिला, सीनियर सिटीजन को राहत देने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 1.70 लाख रुपए पैकेज देने का ऐलान किया था। पीएम के इस कदम की ही राहुल गांधी ने सराहना की है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा, “केंद्र ने आज वित्तीय सहायता पैकेज का ऐलान किया जो सही दिशा में पहला कदम है”। उन्होंने कहा, “लॉकडाउन के कारण भारत के किसान, दिहाड़ी मजदूर, श्रमिक, महिलाएं और बुजुर्ग जो परेशानी झेल रहे हैं, उनकी मदद अवश्य की जानी चाहिए”।

कोरोना वायरस को लेकर मोदी सरकार ने दिया 1.70 लाख करोड़…

राहुल गांधी ने उठाई थी मांग

ध्यान हो एक दिन पहले यानी को राहुल गांधी ने सरकार के सामने दो सुझाव रखे थे और रणनीति सुझाई थी, जिनके माध्यम से घातक कोरोना वायरस से लड़ा जा सकता है। राहुल गांधी ने कहा था, “हमारा देश Coronavirus से युद्ध लड़ रहा है. आज सवाल ये है कि हम ऐसा क्या करें कि कम से कम जानें जाएं? स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए सरकार की बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी है. मेरा मानना है कि हमारी रणनीति दो हिस्सों में बंटी हो. पहली Covid-19 से जमकर जूझना. संक्रमण रोकने के लिए एकांत में रहना और बड़े पैमाने पर मरीज़ों की टेस्टिंग करना. शहरी इलाक़ों में विशाल आपातकालीन अस्थाई हॉस्पिटल का तुरंत विस्तार करना. इन चिकित्सा क्षेत्रों में पूर्ण ICU की सुविधा उपलब्ध हो”।

वहीं, अपना दूसरा सुझाव राहुल गांधी ने अर्थव्यवस्था  को लेकर दिया था और कहा था, “दिहाड़ी मजदूरों को फौरन सहायता चाहिए. उनके अकाउंट में डायरेक्ट कैश ट्रांसफर हो. राशन मुफ्त उपलब्ध हो. इसमें कोई भी देरी विनाशकारी होगी. व्यापार ठप है. टैक्स छूट मिले, आर्थिक सहायता भी मिले ताकि नौकरियां बच जाएं. छोटे-बड़े व्यापारियों को ठोस सरकारी आश्वासन मिले”। यहां आपको बता दें, राहुल ने अपने दोनों सुझाव में सरकार से गरीब-मजदूरों की मदद का आह्वान किया था। जिसे सरकार ने अमल में भी लिया है। राहुल के इसी आह्वान पर कदम बढ़ाते हुए 1.70 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान किया है।

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का ऐलान, टोल प्लाजा पर कुछ दिन नहीं होगी वसूली

महिलाओं-कर्मचारियों को राहत

सरकार द्वारा किये गए ऐलान में कहा गया है कि 20 करोड़ महिला जनधन अकाउंट धारकों को अगले तीन महीने तक 500 रुपये प्रति महीने की रकम मुहैय्या की जाएगी। इसी तरह, अगले तीन महीने तक उज्ज्वला योजना के तहत 8 करोड़ बीपीएल परिवारों को सरकार फ्री सिलेंडर प्रदान करेगी। इस पैकेज का ऐलान केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया। उन्होंने कहा, “पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप के तहत 7 करोड़ परिवारों को फायदा मिलता है. दीनदयाल राष्ट्रीय ग्रामीण जीविका योजना के तहत इन्हें फ्री लोन दोगुना बढ़ाकर 20 लाख रुपये दिया जाएगा”। संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए भी सरकार ने बड़ा ऐलान किया।

इस ऐलान के तहत, “पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत भारत सरकार नियोक्ता और कर्मचारी दोनों के प्रॉविडेंट फंड के 24 फीसदी योगदान का भुगतान अगले तीन महीने तक खुद करेगी. यह उन प्रतिष्ठानों के लिए किया जाएगा जिनमें 100 तक ही कर्मचारी हों और जिनके 90 फीसदी कर्मचारी 15 हजार से कम वेतन वाले हों”। सरकार द्वारा किए गए ऐलान के तहत करीब 80 लाख कर्मचारियों और लगभग 4 लाख प्रतिष्ठानों को फायदा होगा। इसके साथ ही, पीएफ स्कीम रेगुलेशन में बदलाव कर नॉन रिफंडेबल एडवांस निकालने की सुविधा 75 फीसदी जमा रकम या तीन महीने के वेतन के बराबर जो कम हो की सुविधा देगी। हालांकि सरकार का ये कदम तो सराहनीय है। लेकिन अक्सर पीएम मोदी की योजनाओं पर तंज कसने वाले राहुल गांधी का पीएम के कोरोना राहत पैकेज पर समर्थन, यह सवाल खड़ा करता है कि क्या पीएम मोदी के मुरीद हो रहे हैं राहुल ?

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं