अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा, चाकू से 12 वार

आईबी कांस्टेबल अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सच आया सामने, शरीर पर चाकू से हुए थे 12 वार, चोट के 51 निशान

देश की राजधानी दिल्ली में हुई भयावह हिंसा में जान गवाने वाले इंटेलिजेंस ब्यूरो में तैनात अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट की माने तो उनके शरीर पर चोट के कुल 51 निशान थे। इन निशानों में से 12 चाकू के निशान थे जो अंकित शर्मा की थाई, पैर, छाती समेत शरीर के पिछले हिस्से में थे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के हवाले से पुलिस सूत्रों ने बताया उत्तर पूर्वी दिल्ली की हिंसा में मारे गए अंकित शर्मा के शरीर पर 6 कट के निशान थे बाकी 33 चोट के निशान थे। जिसमें रॉड और डंडे जैसे भारी ऑब्जेक्ट से अंकित के सिर और शरीर पर हमला किया गया था।

Viral Sach: दिल्ली हिंसा में रोता हुआ बच्चा अंकित शर्मा का बेटा नहीं है

रिपोर्ट के अनुसार अंकित के शरीर पर ज्यादातर पर्पल, ब्लू और रेड कलर के मार्क मिले हैं। जो ज्यादातर थाई और कंधे पर थे। आपको बता दें, पहले अंकित शर्मा के शरीर पर चोट के करीब 400 निशान कहे जा रहे थे। यहां तक कि ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन नेता असदुद्दीन ओवैसी को जवाब देते गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में भी अंकित शर्मा की मौत का मुद्दा उठाया था। अमित शाह ने कहा था, “आईबी के अफसर शर्मा के शरीर पर 400 घाव लगा दिए (बाएं हाथ से गोदने का इशारा करते हुए) वो भी बोले होते तो सदन की शोभा बढ़ती”।

अमित शाह का खुलासा

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में इस बात खुलासा करते हुए कहा था, “अंकित शर्मा की हत्या की जांच में जुटी एसआईटी को अहम सुराग हाथ लगे हैं. एसआईटी को वह वीडियो हाथ लग गया है, जिसमें अंकित शर्मा की हत्या के राज छुपे हैं. यह वीडियो एक आम नागरिक ने भेजा है”।

क्या था पूरा मामला

उत्तर पूर्वी दिल्ली में आईबी कांस्टेबल अंकित शर्मा अपने परिवार के साथ रहते थे। लेकिन उत्तर पूर्वी दिल्ली हिंसा के दौरान उन पर चाकू से हमला किया गया। चाकू लगने और बुरी तरह से पीटे जाने पर अंकित की मौत हो गई थी। उनका शव 26 फरवरी को चांदबाग में एक नाले से बरामद किया गया। ध्यान हो अंकित 25 फरवरी को गायब हुए थे। परिवार की माने तो वो दफ्तर से आकर बाहर लोगों को समझाने गए थे, तभी भीड़ ने ताहिर के घर के बाहर उन्हें पकड़ कर पीटा और चाकुओं से हमला किया।

Delhi violence: किसी जाति, धर्म या पार्टी का दंगाई बख्शा नहीं जाएगा- शाह

परिवारवालों ने लगाया हत्या का आरोप

बता दें, अंकित के परिवारवालों का आरोप है कि अंकित को हिंसा के दौरान ताहिर हुसैन के समर्थक खींचकर ले गए और उनकी हत्या करने के बाद उसके शव को नाले में फेंक दिया। फिलहाल इस मामले में सलमान नाम के व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया जा चुका है और अभी कई गिरफ्तारियां होनी है। गौरतलब है कि दिल्ली सरकार की ओर से अंकित शर्मा के परिजनों को 1 करोड़ रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया गया है। इस मुआवजे का ऐलान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किया था। वहीं मुआवजे के साथ ही दिल्ली सरकार ने परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का भी ऐलान किया था।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं