कोरोना के खतरे पर सार्क नेताओं को PM मोदी दिया वीडियो वार्ता का न्योता

इस वायरस के साइड इफेक्ट को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ी पहल की है।

चीन से निकले कोविड-19 (कोरोना वायरस) ने धीरे-धीरे पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले चुका है। अबतक इससे विश्वभर में 5000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है तो वहीं 1 लाख से ज्यादा लोग इससे संक्रमित बताए जा रहे हैं। यही वजह है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इसे वैश्विक महामारी घोषित कर कर दिया है। इसी बीच भारत में भी इस वायरस के साइड इफेक्ट को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ी पहल की है। पीएम मोदी ने सार्क देशों के प्रमुखों को इस मुद्दे पर वीडियो कॉन्फ्रेंस वार्ता आयोजित करने का प्रस्ताव दिया है। इस दौरान पीएम मोदी ने दक्षिण एशिया के देशों की साझा रणनीति बनाने का आह्वान किया है। पीएम मोदी की इस आह्वान का कई देशों ने समर्थन किया है। उन्होंने ट्वीट कर कोरोना के खिलाफ एकजुट होकर लड़ाई लड़ने को कहा है।

कोरोना: PM की पहल के मुरीद हुए दुनियाभर के नेता

प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि धरती, कोरोना वायरस कोविड 19 के खतरे से जूझ रही है। सरकारें और लोग अपने अपने स्तर पर इस चुनौती से मुक़ाबले में जुटे हैं। ऐसे में दुनिया की बड़ी आबादी की वाले दक्षिण एशिया को अपने लोगों की स्वास्थ्य रक्षा के उपायों में कोई कमी नहीं छोड़नी चाहिए। पीएम ने इसके लिए सार्क देशों के प्रमुखों की बैठक बुलाने का प्रस्ताव दिया है। पीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा कर एक साझा रणनीति बनाने की पेशकश भी की।

आपको बता दे कि दक्षिण एशिया दुनिया का सबसे घनी आबादी महाद्वीप है। एक रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार, इस महाद्वीप में करीब 1.9 अरब लोग रहते हैं और कोरोना का वायरस संक्रमण से काफी हद तक बचा हुआ है। मौजूदा आंकड़ों की माने तो सर्वाधिक 75 मामले भारत में दर्ज किए गए हैं। वहीं 21 मामले पाकिस्तान में पॉज़िटिव पजे गए हैं। हालांकि, इस बीमारी का फैलने का खतरा बरकरार है। ऐसे में पीएम मोदी की पहल इसी खतरे को कम करने की कवायद है। बता दें कि पीएम मोदी की इस प्रस्ताव के बाद नज़रें पाक पीएम इमरान खान के रूख पर हैं। भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में तनाव के कारण बीते तीन सालों से दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन की शिखर बैठक भी नहीं हो पा रही है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं