सात साल बाद निर्भया की मां ने जीती जंग

देश की बेटी को मिला इंसाफ, फांसी के फंदे पर लटकाए गए निर्भया के चारों गुनहगार।

शुक्रवार की सुबह देश में आशा की एक नई किरण लेकर आई। करीब सवा सात साल के लंबे इंतजार के बाद राजधानी दिल्ली में हुए निर्भया गैंगरेप कांड के चारों आरोपियों को फांसी दी गई। निर्भया के चारों दोषियों विनय, अक्षय, मुकेश और पवन गुप्ता को सुबह ठीक 5.30 बजे फांसी के फंदे से लटकाया गया और अब इनके शवों को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया जाएगा।

क्या था पूरा मामला

बता दें, सात साल 3 महीने और तीन दिन पहले यानी 16 दिसंबर 2012 की रात को पैरामेडिकल छात्रा निर्भया के साथ दिल्ली के वसंत विहार इलाके में चलती बस में बर्बर तरीके से सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। इस रौंगटे खड़े कर देने वाली घटना के बाद पीड़िता को इलाज के लिए सिंगापुर ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। राजधानी में हुई निर्मम घटना ने पूरे देश को डर से भर दिया था। सड़कों पर युवाओं का सैलाब निर्भया के लिए इंसाफ मांगने के लिए निकला था और आज जाकर उसका नतीजा निकला है।

निर्भया केस मामले में नया मोड़, दोषी की पत्नी ने दाखिल की तलाक याचिका

निर्भया की मां ने लड़ी लंबी लड़ाई

इस मामले में पिछले सात सालों में कई मोड आएं, लेकिन निर्भया की मां आशा देवी ने इस लंबे समय में भी हार नहीं मानी और अपनी बेटी के लिए इंसाफ की लड़ाई लड़ी। वहीं जब आज दोषियों को फांसी दी गई तो उन्होंने ऐलान किया कि 20 मार्च को वो निर्भया दिवस के रूप में मनाएंगी। आशा देवी का कहना है, ‘वह अब देश की दूसरी बेटियों के लिए लड़ाई लड़ेंगी’।

आखिरी पल तक हुई बचाने की कोशिश

इन निर्मम घटना से लेकर दोषियों की फांसी के आखिरी पल तक फांसी को टालने की कोशिश की गई। दोषियों के वकील एपी सिंह ने फांसी के दिन से एक दिन पहले दिल्ली हाई कोर्ट में सजा टालने के लिए याचिका दायर की, लेकिन इसमें फैसला दोषियों के खिलाफ आया।

आधी रात को किया सुप्रीम कोर्ट का रुख

वकील एपी सिंह ने आधी रात को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया और जब सर्वोच्च अदालत बैठी तो वहां भी निर्भया के दोषी कुछ ऐसी दलील नहीं दे पाए जिसकी कारण से ये फांसी टले। हालांकि, वकील एपी सिंह ने इस फैसले को गलत बताया है और मीडिया-अदालत और राजनीति पर आरोप मढ़ते रहे।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं