मोदी सरकार ला रही है 18 अरब डॉलर का पैकेज, लाखों लोगों का होगा फायदा

देश के लाखों उद्योगों और असंगठित क्षेत्र के लाखों कर्मचारियों को राहत देने के लिए 18 अरब डॉलर (लगभग 13.64 ट्रिलियन रुपये) का आर्थिक पैकेज लाने की तैयारी की है।

भारत में मोदी सरकार ने Coronavirus (कोरोना वायरस) को नियंत्रित करने के लिए Lockdown (लॉकडाउन) जैसे कदम उठाए हैं। वहीं लॉकडाउन के कारण, देश के लाखों उद्योगों और असंगठित क्षेत्र के लाखों कर्मचारियों को राहत देने के लिए 18 अरब डॉलर (लगभग 13.64 ट्रिलियन रुपये) का आर्थिक पैकेज लाने की तैयारी की है। उद्योग के सूत्रों के अनुसार, सरकार जनधन खातों में सीधे राहत राशि डालने की तैयारी कर रही है, लेकिन Hand Sanitizer (हैंड सैनिटाइजर) जैसी आवश्यक वस्तुओं पर भी GST (जीएसटी) कम कर सकती है। साथ ही, कंपनियां आस्थगित Corporate tax (कॉर्पोरेट टैक्स) का लाभ भी दे सकती हैं, ताकि कंपनियों को आर्थिक नुकसान के कारण लोगों को रोजगार न मिले।

कौन ज्यादा घातक ‘कोरोना’ या ‘भुखमरी’?

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि यह वित्तीय पैकेज शेयर बाजार के लिए भी एक राहत की बात हो सकती है, जो कि अतीत में अब तक की सबसे बड़ी गिरावट देखी गई है। सूत्रों का कहना है कि केंद्र सरकार और नियामक संस्था सेबी लंबी अवधि पूंजीगत लाभ (एलटीसीजी) और शेयर बायबैक पर अस्थायी रूप से कर हटाने पर विचार कर रही है। इस कदम से शेयर बाजार के उन निवेशकों को बड़ी राहत मिल सकती है जिन्होंने लगातार बिकवाली के कारण शेयर बाजार में भारी नुकसान उठाया है। चूंकि ये बायबैक निवेशकों को उनके शेयरों से बाहर निकलने के लिए बेहतर कीमत देंगे।

Coronavisrus:  IOC अध्यक्ष का बयान, ओलंपिक को टालने के अलावा नहीं था कोई विकल्प

यदि आप नहीं जानते हैं, तो बात करें कि LTCG (एलटीसीजी) पर कर हटाने से शेयर बाजार में अधिक निवेशक आकर्षित होंगे। इसके अलावा, केंद्र सरकार का यह आर्थिक पैकेज मध्यम वर्ग के लोगों के लिए नकद धन भी लाएगा। ताकि बाजार में माल की खपत को बढ़ावा मिले। इस सेगमेंट के लोगों को सरकार की ओर से EMI (ईएमआई) के भुगतान में भी राहत मिल सकती है। चूंकि ऐसे लोगों का ईएमआई भुगतान कुछ महीनों के लिए स्थगित किया जा सकता है। सरकार और निजी क्षेत्र के लिए काम करने वाले एक उद्योग विशेषज्ञ के अनुसार, बचत की ब्याज दरों में भारी कमी हो सकती है और वही कमी ऋणों की ब्याज दरों में भी हो सकती है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं