लोकसभा स्पीकर ने सात सांसदो को किया निलंबित, जानिए वजह

0
181

कांग्रेस पार्टी के सात सांसदों को नियमों का उल्लघंन करने के चलते लोककसभा स्पीकर ओम बिरला ने पूरे बजट सत्र तक के लिए निष्कासित कर दिया है।

नई दिल्ली:ये निष्कासन इस आधार पर हुआ है क्यों कि कांग्रेस के तमाम सदस्य लोकसभा स्पीकर के साथ अनर्गल व्यवहार करने के साथ-साथ स्पीकर पर पेपर फेंक रहे थे।  सांसद टी.एन प्रतापन, गौरव गोगोई, एडवोकेट डीन कुरियाकोस, बेनी बेहनन, मणिक्कम टैगोर, राजमोहन उन्नीथन और गुरजीत सिंह औजला ऐसे नाम हैं जो संसद में गलत व्यवहार के चलते संस्पेंड किए गए हैं।

इस दोरान सभापति मीनाक्षी लेखी ने कहा ”जिन माननीय सदस्यों को निलंबित किया गया है वे तुरंत बाहर चले जाएं। लेखी ने सदन की कार्यवाही शुरू होने पर कहा, आज दोपहर सदन में चर्चा के दौरान कुछ सदस्यों ने सभा की कार्यवाही से संबंधित आवश्यक दस्तावेज अध्यक्षीय पीठ से बलपूर्वक छीन लिये और उछाले गये।

पीठासीन सभापति ने आगे कहा, संसदीय इतिहास में ऐसा दुर्भाग्यपूर्ण आचरण संभवत: पहली बार हुआ है कि जब अध्यक्ष पीठ से कार्यवाही से संबंधित पत्र छीने गये हो। मैं इस आचरण की घोर निंदा करती हूं।

जाहिर है कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर राजधानी दिल्ली को जाफराबाद, मौजपुर और चांदबाग में जिस तरह से हिंसा हुई। जिसमें भारी संख्या में लोग मारे गए। साथ ही सैकड़ों की संख्या में घायल हुए, उसी बात को लेकर लगातार विपक्ष बजट सत्र के दौरान संसद में हंगामा कर रहा है।

विपक्ष के हंगामे को देख कर लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने संसद की पटल पर यहां तक कहा कि आपलोग हल्ला न मचाए। होली के बाद सरकार इस विषय पर चर्चा करने के लिए तैयार है। विपक्ष ओम बिरला के आश्वासन के बावजूद हंगामा करता रहा। हद तो तब हो गई। जब पन्ने फाड़कर पीठासीन सभापति के उपर फेंके दिए गए। जिसके चलते इन सभी सांसदो को संस्पेड किया गया है।