लॉकडाउन: पीएम मोदी को सोनिया गांधी का खत, कहा- पैदल निकले मजदूरों को पहुंचाए घर

लॉकडाउन के बीच भुखमरी की मार झेल दिल्ली से पैदल निकले मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए सोनिया की PM मोदी से अपील।

देश में लॉकडाउन के कारण कई जगहों पर रास्तों में फंसे मजदूरों एवं गरीबों की राष्ट्रीय स्तर पर मदद के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया। सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर यह भी आग्रह किया कि रास्ते में फंसे लोगों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए राज्य परिवहन की सेवा दी जाए। जिला कलेक्टर को उनकी मदद का उत्तरदायित्व दिया जाए। सोनिया गांधी ने कहा, “लाखों मजदूर सैकड़ों किलोमीटर दूर अपने घरों को पैदल जाने को मजबूर हैं क्योंकि सार्वजनिक परिवहन सेवा बंद है। बहुत सारे लोग अपने घरों एवं होटलों में हैं और उनके पास पैसे नहीं हैं।” कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “मेरा आग्रह है कि रास्ते में फंसे लोगों की मदद के लिए राष्ट्रीय स्तर पर परामर्श जारी किया जाए।”

एक बच्ची ने अपने पिता को लिखा संदेश, पीएम मोदी ने शेयर किया वीडियो

यूपीए चैयरपर्सन के साथ ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी रास्ते में फंसे लोगों की मदद के लिए सरकार से आग्रह किया। उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा, “दिल्ली के बॉर्डर पर त्रासद स्थिति पैदा हो चुकी है। हजारों की संख्या में लोग पैदल अपने घरों की तरफ निकल पड़े हैं। कोई साधन नहीं, भोजन नहीं।” प्रियंका ने कहा, “कोरोना का आतंक, बेरोजगारी और भूख का भय इनके पैरों को घर गांव की ओर धकेल रहा है। मैं सरकार से प्रार्थना करती हूं। कृपया इनकी मदद कीजिए।”

आपको बता दें, अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कोरोना वायरस से निपटने के तहत वहां की जिला अधिकारी से शुक्रवार को कहा कि संकट की इस घड़ी में स्थानीय जनता की मदद के लिए वह उनकी सांसद निधि का इस्तेमाल कर सकती हैं। सोनिया गांधी ने रायबरेली की जिला अधिकारी शुभ्रा सक्सेना को लिखे पत्र में अपने क्षेत्र की जनता से पूरी तरह सावधानी बरतने की भी अपील की। सोनिया ने कहा, “जिला प्रशासन से मेरी अपील है कि लोगों को सैनिटाइजर, मास्क और साबुन इत्यादि वितरित किए जाएं। दिहाड़ी मजदूरों, गरीबों और बेघर लोगों पर विशेष ध्यान दिया जाए। किसी भी बेसहारे को भूखा नहीं सोने दिया जाए।”

प्रधानमंत्री राहत कोष में नितिन गडकरी देंगे अपने 1 माह का वेतन

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “रायबरेली की जनता की प्रतिनिधि होने के नाते मुझसे जिस प्रकार का सहयोग चाहिए उसके लिए मैं प्रतिबद्ध हूं।’ उन्होंने कहा, ‘जिला अधिकारी महोदया, रायबरेली की जनता की कोरोना आपदा से मदद के लिए जितने भी फंड की जरूरत हो वो आप निकाल सकती हैं। मैं इसकी संस्तुति देती हूं।” ध्यान हो कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के कई अन्य सांसदों ने भी अपने अपने क्षेत्रों में कोरोना से निपटने के लिए अपनी सांसद निधि के प्रयोग का ऐलान किया है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं