जानें पीएम की अपील पर किस दल में आई दरार और किसने जताया विरोध

0
55

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रात 9 बजे 9 मिनट के लिए घर की लाइट बंद कर मोबाइल का फ्लैश, दीया और मोमबत्ती जलाने की अपील की थी जिसका कई दलों ने विरोध किया है।….

आज यानी रविवार 5 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी देशवासियों से रात 9 बजे 9 मिनट के लिए घर की सभी लाइटें बंद कर मोमबत्ती, दीया या फिर मोबाइल का फ्लैश जलाने की अपील की है। लेकिन कई दलों को यह अपील रास नहीं आ रही। बता दें उन्होंने पीएम मोदी की इस अपील का विरोध किया है। महाराष्ट्र के आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने पीएम मोदी के संबोधन की आलोचना करते हुए घोषणा की है कि वह रविवार रात को दीये या मोमबत्ती नहीं जलायेंगे। राकांपा नेता ने कहा  की मुझे उम्मीद थी कि मोदी लॉकडाउन के चलते गरीबों को हो रही परेशानी जैसे मुद्दों में बातचीत करेंगे लेकिन उन्होंने निराश कर दिया। आव्हाड ने कहा, ‘‘ मैं नहीं समझ पा रहा कि वह हर चीज को एक इवेंट क्यों बनाना चाहते हैं. यह कुछ नहीं बल्कि बेवकूफी और बचकाना है.”

मास्क को लेकर पीएम मोदी ने कही ये बात, जारी की…

मंत्री ने कहा, ‘‘मैं एलान करना चाहता हूं, मैं काम कर रहा हूं, मैं गरीबों से मिलता हूं, मैं उनकी देखभाल करता हूं, उन्हें भोजन देता हूं. मैं तेल और मोमबत्तियों पर खर्च करने के बजाय वह पैसा गरीबों को दे दूंगा. मैं अपने घर के सारे लाइट जलते हुए रखूंगा और और एक भी मोमबत्ती नहीं जलाऊंगा.” आव्हाड ने कहा की पीएम मोदी के संबोधन को लेकर यह उम्मीद जताई जा रही थी कि मोदी लोगों को यह आश्वासन देंगे  की जरूरी सामान जैसे सैनिटाइजर, दवाई, मास्क और परीक्षण के चीजें पर्याप्त मात्रा में है लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया।

उम्मीद है लोग अपना घर नहीं जलाएंगे- संजय राऊत

जानें पीएम की अपील पर किस दल में आई दरार और किसने जताया विरोध

जितेंद्र आव्हाड के साथ ही शिवसेना सांसद संजय राउत ने पीएम मोदी की इस अपील पर तंज कसते हुए कहा, “प्रधानमंत्री ने जब लोगों को ताली बजाने के लिए कहा तब लोग सड़कों पर भीड़ करके ढोल बजाने लगे। मुझे उम्मीद है कि ये लोग अब अपने घरों को नहीं जलाएंगे”। बता दें, राऊत ने पीएम मोदी से कहा,” साहब लोगों के काम और पेट के बारे में कुछ बोलिए”।

UP बिजली विभाग की लोगों से अपील, 9 बजे सिर्फ लाइट…

पीएम कोरोना को लेकर गंभीर बनें- थोरात

महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष और प्रदेश के राजस्व मंत्री बाला साहब थोरात ने पीएम मोदी की इस अपील पर कहा कि पीएम मोदी को नीतिगत निर्णय लेना चाहिए, ना कि देश को ताली बजाओ और दीया जलाने जैसे इवेंट की अपील करनी चाहिए। थोरात ने कहा कि हमें कोरोना महामारी को लेकर पैदा हुई गंभीर स्थिति की ओर ध्यान देना चाहिए पीएम मोदी जो फिलहाल कर रहे हैं, यह उचित नहीं है।

कांग्रेस पर भाजपा का पलटवार

बता दें पीएम मोदी की अपील को इवेंट बताने वाले कांग्रेस के अध्यक्ष व राजस्व मंत्री बालासाहब थोरात पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने पलटवार किया है। पाटील ने कहा, “प्रधानमंत्री के आह्वान को इवेंट बताने वाले प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष व राजस्व मंत्री बालासाहब थोरात को कोरोना वायरस की स्थिति की गंभीरता नहीं पता है। मोदी ने जनता का मनोबल बढ़ाने का प्रयास किया है। इस प्रयास में थोरात जनता का मजाक न उड़ाए। प्रधानमंत्री क्या करें, इस बारे में सलाह देने के बजाय थोरात को केंद्र सरकार द्वारा भेजे गए अनाज को राशन दुकानों पर गरीबों को वितरित करवाना चाहिए”।

क्या कोरोना को घर में ला रहें हैं आपके जूते ?

एनसीपी में दो फाड़

बता दें जहां एनसीपी नेता जितेंद्र आव्हाड ने पीएम मोदी की इस अपील का विरोध किया है तो वहीं एनसीपी के ही विधायक रोहित पवार ने अपील का समर्थन किया हैं। रोहित ने ट्वीट कर लिखा, “दीयों के माध्यम से देश को कोरोना विरोध में एकजुट करने का प्रधानमंत्री का लक्ष्य होगा। यदि यही लक्ष्य है तो उनका स्वागत करना चाहिए। रोहित ने कहा कि सोशल मीडिया अकाऊंट पर राष्ट्रधव्ज का डीपी रखकर एकता के संदेश को अधिक मजबूत करें”। आपको बता दें पीएम मोदी की इस अपील का कई दलों ने समर्थन किया है। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी पीएम मोदी की इस अपील का समर्थन करते हुए दीए जलाने की बात कही है। वहीं खेल जगत और बॉलीवुड के कई स्टार्स ने भी पीएम मोदी की इस अपील का समर्थन किया है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है