खाटू श्याम मेले के शुल्क भंड़ार को लेकर भाजपा के निशाने पर गहलोत सरकार

सनातन हिंदू वाहिनी ने एडीएम रामचरण शर्मा को राज्यपाल और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देकर इस बढ़े हुए शुल्क को वापस लेने की मांग की है।

राजस्थान के सीकर में श्याम बाबा के लकी मेले को लेकर राजस्थान सरकार कटघरे में आ गई है। दरअसल, मेले में लगने वाले भंडारे और कैंप का शुल्क राज्य सरकार की ओर से बढ़ा दिया  गया है। भड़ारे पर लगने वाले शुल्क को 2100 से बढ़ाकर 21000 कर दिया गया है तो वहीं सफाई शुल्क भी 11 हजार कर दिया गया है। इस बढ़े हुए शुल्क को लेकर ही राज्य सरकार विपक्षी भाजपा और लोगों की नाराजगी का सामना कर रही है। इस मामले पर सनातन हिंदू वाहिनी ने एडीएम रामचरण शर्मा को राज्यपाल और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देकर इस बढ़े हुए शुल्क को वापस लेने की मांग की है। बता दें, बुधवार को युवा भाजपा नेता दर्शन सिंह गुर्जर मोतीपुरा के नेतृत्व में इस मामले में दर्जनभर भाजपाई और भक्तगण उप जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय पर पहुंचे।

मध्यप्रदेश सरकार ने CAA के खिलाफ किया प्रस्ताव पास

जहां पर उन्होंने राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। नारेबाजी के साथ ही महामहिम राज्यपाल के नाम ज्ञापन अतिरिक्त जिला कलेक्टर नवरत्न कोली को सौंपा। इस ज्ञापन में बढ़े हुए शुल्क को वापस लेने की बात कही गई है। साथ ही कहा गया है शुल्क को बढ़ाना सरासर गलत और निंदनीय है। दर्शन सिंह गुर्जर मोतीपुरा ने कहा, “कांग्रेस सरकार तुष्टिकरण कर रही है। हज यात्रा निशुल्क और खाटू श्याम के भंड़ारों पर 21000 का शुल्क सरकार हिंदू विरोधी है अगर कांग्रेस सरकार के पास पैसो की कमी है तो इस प्रकार का शुल्क लगाने की बजाय सरकार को कटोरा लेकर खाटू श्याम मंदिर में वहीं बैठ जाना चाहिए वहां आने वाले श्याम प्रेम और भक्तजन खुद गी सरकार को पैसे दे देंगे”। आपको बता दें, सनातन हिंदू वाहिनी ने भी एडीएम रामचरण शर्मा को राज्यपाल और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देकर 10 गुना बढ़ाए गए भंडारा शुल्क को वापस लेने की मांग की है।

मॉब लिंचिंग पर होगी अब सख्त कार्रवाई, राजस्थान सरकार ने लिया ये फैसला….

वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष जगजीत यादव और प्रभारी राजेश बंसल ने बताया, “भंडारा व चिकित्सा कैंप का शुल्क पहले 2100 रुपए था, जिसे बढ़ाकर अब 21 हजार रुपए कर दिया है। सफाई शुल्क भी 11 हजार रुपए कर दिया है”। इसके साथ ही ज्ञापन में कहा गया है, “बढ़ाया शुल्क वापस नहीं लिया तो पूरे प्रदेश के धर्मप्रेमी लोग सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करेंगे”। गौरतलब है कि खाटू श्याम बाबा के लकी मेले की शुरूआत हो चुकी है। शुक्रवार को शहर के संजीत रोड स्थित खाटू श्याम बाबा मंदिर पर चल रहे आयोजन में निशान यात्रा निकली। जो शहर के कई रास्तों से होकर गुजरी। इस दौरान बाबा का अलोकिक श्रृंगार देखने को मिला। भक्त बड़ी संख्या में हाथ में ध्वज लेकर इस यात्रा में शामिल हुए।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं