नोएडा: मध्यप्रदेश के सियासी खेल में अभी पिक्चर साफ नहीं हुई है। राज्यपाल लालजी टंडन के अभिभाषण के बाद कोरोना वायरस की वजह से विधानसभा की कार्यवाही को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

राज्यपाल लालजी टंडन ने अभिभाषण के बाद कहा कि मैं सभी सदस्यों को सलाह देना चाहता हूं कि वे शांतिपूर्ण तरीके से दायित्व को निभाएं। राज्यपाल लालजी टंडन ने विधानसभा में अभिभाषण पढ़ते हुए सभी विधायकों को कहा है कि वो संविधान के मुताबिक अपने दायित्वों का निर्वहन करें। रही बात फ्लोर टेस्ट की तो अभी तक फ्लोर टेस्ट को लेकर संस्पेस बना हुआ है।

मध्यप्रदेश में कमलनाथ की सरकार रहेगी या जाएगी इसक फैसला अभी होना बाकी है क्यों कि अभी तक शक्ति प्रदर्शन को लेकर कोई तस्वीर नहीं बनी है। पिछले 24 घंटे में दिल्ली से लेकर भोपाल तक जिस तरीके से सियासी हलचल देखने को मिली उससे इस बात का अंदाजा लगा पाना अभी तक मुश्किल लग रहा है कि आखिर एमपी में क्या होने वाला है।

हालांकि  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को राज्यपाल लाल जी टंडन पत्र लिख कर ये बात कह चुके हैं कि वो अपने विधायकों की संख्या विधानसभा में पेश करें। वहीं कांग्रेस इन सभी बातों से अलग होकर अपनी अलग ढपली बजा रही है। लिहाजा मध्यप्रदेश की सियासी भूचाल को देखते हुए 26 मार्च तक के लिए विधानसभा स्थगित कर दी गई है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं