कोरोना संकट: बिहार विधानसभा अनिश्चितकालीन स्थगित

बिहार की नीतीश सरकार के मुताबिक, अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं तो उनका इलाज बिहार सरकार कराएगी।

कोरोना वायरस के संकट को लेकर बिहार सरकार भी एक्शन में दिख रही है। एक तरफ जहां नीतीश कुमार ने कोरोना की गंभीरता को देखते हुए राज्य में स्कूल-कॉलेजों को 31 मार्च तक बंद रखने का आदेश दिया है। तो वहीं इस वायरस के कारण बिहार विधानसभा को भी अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया। बिहार की नीतीश सरकार के मुताबिक, अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं तो उनका इलाज बिहार सरकार कराएगी। इसी बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि पटना एयरपोर्ट पर बाहर से आने वालों लोगों के जांच के लिए से वरिष्ठ अधिकारी भी तैनात रहेंगें। उन्होंने कहा कि सामाजिक और आपसी दूरी ही सबसे बेहतर बचाव है।

कोरोना: यूपी-बिहार में भी स्कूल,कॉलेज बंद, जानिए और क्या-क्या हुआ…

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधानसभा सत्र के दौरान सदन को इस बात की जानकारी दी कि भारत-नेपाल सीमा पर 49 जगहों पर लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है। नीतीश कुमार ने सदन को ये भी बताया कि अगर किसी व्यक्ति मे कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं तो बिहार सरकार उनलोगों का इलाज मुख्यमंत्री चिकित्सा योजना के तहत कराएगी। मरीजों पर होने वाली सभी खर्च बिहार सरकार द्वारा किया जाएगा। सीएम ने ये भी कहा कि अगर कोरोना से किसी व्यक्ति की मौत होती है तो उनके परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोस से 4 लाख रुपए की मुआवजा राशि दी जाएगी।

बिहार की राजनीति में फिर चूहों की एंट्री!

चीन के वुहान से फैला कोरोना ने भारत में अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। भारत में कुल 116 मामलें सामने आ चुके हैं। वहीं अभी तक इससे दो लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। कोरोना से मौत पहला मामला कर्नाटक और दूसरा मामला दिल्ली से आया। हालांकि, बिहार के अच्छी खबर है कि वहां से अभी तक एक भी मामला सामने नहीं आया है और न ही इससे मरने वाले एक भी मरीज की पुष्टि हुई है। वही, सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र से सामने आए हैं।  बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के पीड़ितों की संख्या अब 37 हो चुकी है। वहीं ओडिशा में इटली से लौटे शोधकर्ता के कोरोना की जांच में पॉजिटिव पाए जाने के बाद राज्य में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया है।

आपको बता दें कि कोरोना की भारत में दस्तक के बाद बिहार सरकार ने 31 मार्च तक राज्य के सभी स्कूलों-कॉलेजों को बंद करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा सीएम ने बिहार के सभी पार्क, जू, सिनेमाघरों के साथ-साथ राज्य में शादी समारोह या अन्य किसी पार्टी फंक्शन पर भी रोक लगा दी है। बिहार सरकार के ने ऐसा भीड़वार से बचने के लिए कहा है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं