‘पार्टी से उठता जा रहा है कांग्रेस नेताओं का विश्वास’: MP BJP प्रभारी

0
42

मध्य प्रदेश के बीजेपी प्रभारी ने कहा है कि कांग्रेस के उम्मीदवारों का ही पार्टी विश्वास उठता जा रहा है।

मध्य प्रदेश की राजनीति में सियासी हलचल के बीच कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया अब बीजेपी में शामिल हो गए हैं। बीजेपी में शामिल होने के साथ ही अब वो विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं। इसी बीच मध्य प्रदेश में बीजेपी के प्रभारी विनय पी सहस्रबुद्धे का कहना है कि जो लोग भी कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में चुने गए थे, वो लोग भी पार्टी में विश्वास खो रहे हैं। दरअसल, एक मशहुर न्यूज अखबार को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि भाजपा को कांग्रेस की खराब संगठनात्मक गतिशीलता के लिए दोषी नहीं ठहराया जा सकता है।

जानिए आखिर कैसे भारतीय राजनीति के सूरमा मध्य प्रदेश में हो गए ‘अनाथ’…

सहस्रबुद्धे ने अपने इंटरव्यू में कहा कि सिंधिया ने राजनीति स्तर पर अपनी एक खास पहचान बनाई है।  उनके बीजेपी में शामिल होने के बाद हम निश्चित रूप से मजबूत हुए हैं। उन्होंने कहा कि ये अच्छी बात है कि समाज और आम जन के कल्याण के बारे में सोचने वाले सिंधिया ने बीजेपी को चुना। इंटरव्यू के दौरान जब उनसे पूछा गया कि क्या वो केंद्रीय मंत्रिमंडल का हिस्सा होंगे, जिसके जवाब में उन्होंने कहा कि ये निर्णय पूरी तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का है।

आपको बता दें कि कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया बुधवार को बीजेपी में शामिल हुए। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा की मौजूदगी में उन्होंने बीजेपी की सदस्यता ली। बीजेपी में शामिल होने के बाद सिंधिया ने अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि मेरे जीवन में दो तारीखें बहुत महत्वपूर्ण रहीं। वो पहला दिन 30 सितंबर 2001 था, जिस दिन मैंने अपने पूज्य पिता को खोया और दूसरी तारीख 10 मार्च 2020 थी, जो उनकी 75वीं वर्षगांठ थी।

स्मार्ट सिटी की रेस में मध्य प्रदेश ने मारी बाजी

बीजेपी की सदस्यता लेने के बाद उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब पहले जैसे नहीं रही। इस दौरान उन्होंने कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा और कहा कि मध्य प्रदेश सरकार में आज ट्रांसफर उद्योग चल रहा है। उन्होंने कहा, “’मैंने हमेशा माना है कि हमारा लक्ष्य जनसेवा होना चाहिए। राजनीति केवल उस लक्ष्य को पूरा करने का माध्यम होना चाहिए और कुछ नहीं।” गौरतलब है कि साल 2018 में मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद से ही प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच मतभेद उत्पन्न हो गया था।

AB STAR NEWS के  ऐप को डॉउनलोउड  कर सकते. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं