भारत के लिए ट्रंप के बदले सुर, कहा- भारत ना देता दवाई की सप्लाई को मंजूरी, तो देते करारा जवाब

0
69

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत को चेतावनी देते हुए कहा- भारत ना देता दवाई की सप्लाई को मंजूरी, तो देते करारा जवाब

अभी कुछ दिनों पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात कर कोरोना वायरस के खिलाफ साथ मिलकर लड़ने की बात कही थी। इस दौरान उन्होंने एक दवाई की सप्लाई फिर से शुरू करने की अपील भी की थी लेकिन अब दो दिन बाद ट्रंप ने उसी मुद्दे को उठाते हुए कहा है कि अगर भारत मदद नहीं करेगा तो उसे करारा जवाब दिया जाएगा। व्हाइट हाउस में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मंगलवार को  डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, “रविवार की सुबह मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की थी, मैंने उनसे कहा था कि अगर आप हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की सप्लाई को शुरू करते हैं, तो काफी अच्छा होगा. लेकिन अगर वो ऐसा नहीं करते तो कुछ नहीं होता, तो उसका करारा जवाब दिया जाता. आखिर कड़ा जवाब क्यों नहीं दिया जाएगा?”

कहीं सच साबित न हो जाए डोनाल्ड ट्रंप का डर?

बता दें, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से ट्रंप को इस दवा के लिए आश्वासन दिया गया था। ट्रंप से बातचीत के बाद भारत सरकार ने 12 एक्टिव फार्माटिकल इनग्रीडियंट्स के निर्यात पर लगी रोक को हटा दिया था, जिसके बारे में सूचना साझा की गई थी। गौरतलब है कि रविवार को नरेंद्र मोदी से बातचीत के दौरान ट्रंप ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत का साथ मिलने पर आभार जताया था। व्हाइट हाउस में ट्रंप ने बयान दिया था कि अगर भारत दवाई की सप्लाई फिर से शुरू करता है, तो वह काफी अच्छा होगा, हम उनका आभार जताते हैं लेकिन अब दो दिन बाद ट्रंप का यह बयान देना कि अगर भारत सप्लाई नहीं करता है, तो उसे नुकसान उठाना पड़ेगा। यह बयान काफी निंदनीय है।

जब डोनाल्ड ट्रंप से कोरोना वायसर से संक्रमित व्यक्ति ने मिलाया हाथ!

क्या है हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन?

बता दें कि एक रिसर्च में ये सामने आया है कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवाई कोरोना वायरस से लड़ने में काफी मददगार है।  यहां ध्यान देने वाली बात यह है की  ये दवाई दुनिया में सबसे ज्यादा भारत में ही बनाई जाती है। लेकिन भारत में बढ़ते कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए सरकार ने इसके निर्यात पर रोक लगाने का फैसला लिया था।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है