Delhi violence: किसी जाति, धर्म या पार्टी का दंगाई बख्शा नहीं जाएगा- शाह

0
73

दिल्ली हिंसा पर बोले अमित शाह, किसी जाति, धर्म या पार्टी के दंगाईयों को बख्शा नहीं जाएगा

दिल्ली हिंसा को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ा बयान दिया है। शाह ने कहा हिंसा में जान गवानें वालों के प्रति हम दुख जताते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली हिंसा में शामिल लोगों को नहीं बक्शा जाएगा फिर चाहे वो किसी भी पार्टी के क्यों ना हो।

पाताल से भी ढूंढ कर लाएंगे

गृह मंत्री शाह ने दंगाईयों को चेतावनी देते हुए कहा कि, “दिल्ली हिंसा से ठीक पहले 22 फरवरी को कुछ सोशल मीडिया अकाउंट बनाए गए और 26 फरवरी को बंद कर दिए. वे लोग भी कहीं बैठे होंगे और मेरी बात सुन रहे होंगे, उनको लगता है कि वे बच जाएंगे लेकिन मैं साफ कर दूं उनको पाताल से भी ढूंढ कर लाएंगे. अंकित शर्मा पर जिसने चाकू चलाए, उसकी वीडियो आज उपलब्ध हैं, आवाज भी उपलब्ध है, वह व्यक्ति भी आज दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में है. हमने उपराज्यपाल के जरिए दिल्ली हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस को कहा है कि आप ही कोई क्लेम कमिश्नर नियुक्त कीजिए जिसके जरिए दंगों में लोगों की संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों से वसूली की जा सके”।

NPR में कॉलम ‘D’ का क्या है मतलब जिसे शाह ने दिया किसी…

हिंसा में 1100 से ज्यादा लोगों की पहचान

इसके साथ ही शाह ने कहा, “दिल्ली को हिलाने वाली इस हिंसा में अबतक 1100 से ज्यादा लोगों की पहचान की जा चुकी है, जिनमें से यूपी से 336 लोग आए थे। लेकिन सवाल ये है कि यूपी के लोगों को क्यों कहा जा रहा है तो मैं बता दूं कि दिल्ली में जहां हिंसा हुई उसकी सीमा यूपी से लगती है, हिंसा के दौरान यूपी से लोग आए, इसका हमारे पास प्रमाण भी है”

निजता भंग होने का खतरा नहीं

डेरेक ओ ब्रायन पर वार करते हुए शाह ने कहा, “जिस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल दंगाइयों की पहचान के लिए किया जा रहा है उससे निजता भंग होने का खतरा है. मैं पहले तो स्पष्ट कर दे रहा हूं कि हमने पहचान के लिए आधार का इस्तेमाल नहीं किया है. कल मीडिया हाउसों ने गलती से आधार का जिक्र कर दिया. दूसरी सबसे बड़ी बात, कि यहां दंगों में कितने निर्दोषों की जान चली गई और आप निजता भंग होने की बात कर रहे हैं. ऐसे मामलों में तो पुलिस को अधिकार होना चाहिए कि वह सही तरीके से निष्पक्ष जांच कर सकें”।

दिल्ली हिंसा पर संसद में शाह देंगे अपना ‘मत’ आखिर विपक्ष को मिलेगा जवाब?

700 से अधिक FIR दर्ज

वहीं दंगाईयों को लेकर अमित शाह ने कहा, 700 से अधिक FIR दर्ज हुई है। तेजी से कार्रवाई की गई है। गिरफ्तारी करीब 2600 से ज्यादा हुई है। सबूत के आधार पर ही गिरफ्तारी की गई है। जिसने दंगा किया उसको अदालत में खड़ा किया जाएगा और कठोर से कठोर सजा दी जाएगी। कल 1170 चेहरों की पहचान हो गई थी, वहीं आज 1922 चेहरों को पहचाना गया है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं