क्या 15 अप्रैल को खुलेगा लॉकडाउन?

15 अप्रैल से लॉकडाउन खुलने का सीएम योगी ने दिया संकेत !

कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण देश में 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया गया। 14 अप्रैल को लॉकडाउन का आखिरी दिन होगा। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या ये लॉकडाउन 14 को पूरी तरह खत्म जाएगा ?

लॉकडाउन के संबंध में सीएम योगी का क्या है विचार ?

घरों में बंद लोग इन 21 दिनों के बीतने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं लेकिन देश के सामने कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या बड़ी चुनौती है। ऐसे में आखिर किस तरह लॉकडाउन को खोला जाएगा जिससे स्थिति बिगड़ने से बच जाए। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने लॉकडाउन पर स्पष्ट तो नहीं लेकिन हां कुछ संकेत जरूर दिए हैं कि अगर लॉकडाउन खोलने का आदेश मिलता है तो किस तरह से उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन को खोला जा सकता है।

सीएम योगी की टीम-11 की बैठक में तैयार की गई रूपरेखा

लॉकडाउन को खोलने के संबंध में सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने आवास पर टीम-11 की बैठक बुलाई। इस बैठक में लॉकडाउन को खोलने के संबंध में विचार किया गया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम से कहा है कि अगर 15 अप्रैल से लॉकडाउन खुलता है तो चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन को खोलने और स्थिति से निपटने की योजना बनाएं क्योंकि लॉकडाउन के कारण जो व्यक्ति जिस स्थान पर भी फंसा होगा वो वहां से अपने स्थान आने के लिए दौड़ेगा। ऐसे में एक भीड़ के अचानक एकत्र होने की संभावना भी ज्यादा है जिससे सोशल डिस्टेंसिंग सीधे तौर पर प्रभावित होगी इसलिए सीएम योगी ने चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने की योजना बनाने पर जोर दिया है।

कोरोना वायरस से बढ़ा मौत का आकड़ा, भारत में आकड़ा 72…

लॉकडाउन खोलने के लिए बड़े स्तर पर तैयारी

सीएम योगी आदित्यनाथ की टीम-11 के साथ बैठक में लॉकडाउन से जुड़े कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई। लॉकडाउन के कारण स्कूल, कॉलेज, कंपनियां, मार्केट, मॉल, मल्टीप्लेक्स आदि सबकुछ बंद है। अब 15 अप्रैल को अगर लॉकडाउन खोला जाता है तो स्कूल, कॉलेज, कंपनियां, मार्केट, मॉल आदि को किस तरह से खोला जाए किस तरह का एक चरण निर्धारित किया जाए जिससे अचानक एकत्रित होने वाली भीड़ से बचा जा सके। इन्ही बातों का ध्यान रखते हुए सीएम योगी ने चरणबद्ध तरीके को किस तरह से लागू किया जाए इस पर कार्य योजना बनाने का टीम को आदेश दिया है।

स्वास्थ्य सेवाओं के उचित संचालन को लेकर योजना

लॉकडाउन खत्म करने के संबंध में एक चुनौती सरकार के लिए ये भी है कि जब लॉकडाउन खत्म होने के कारण भीड़ जुटने लगेगी तो कहीं संक्रमण के मामले और तेजी से न बढ़ने लगे। ऐसे में लॉकडाउन खोलने के साथ ही हर जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था को पुख्ता करने की बेहद जरूरत है। इस पर सीएम योगी ने कहा है कि कोरोना के संक्रमण के चलते एनेस्थेसिया, बच्चों के चिकित्सक, फिजीशियन और महिला चिकित्सकों की आवश्यकता पड़ेगी। इसके लिए सीएम योगी ने टीम को प्राइवेट सेक्टर के डॉक्टरों की सूची तैयार करने का भी आदेश दिया है। इसके अलावा सीएम ने एक हजार करोड़ का कोरोना केयर फंड तैयार करने का ऐलान किया है। इस फंड का इस्तेमाल टेस्टिंग लैब तैयार करने के साथ ही जरूरी उपकरणों जैसे वेंटीलेटर, सेनिटाईजर, पीपीई, मास्क आदि की व्यवस्था करने में किया जाएगा।

कोरोना का असर, 30 अप्रैल तक एअर इंडिया की घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की बुकिंग बंद

कम्युनिटी किचन की व्यवस्था

सीएम योगी आदित्यनाथ ने देश की वर्तमान स्थिति और भविष्य को देखते हुए दूरगामी योजनाएं संचालित करने का निर्णय लिया है। लॉकडाउन से प्रभावित होने के कारण कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे इस बात का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा। सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश के हर जिले में कम्युनिटी किचन बनाने का आदेश दिया है जिसमें समाजसेवी संस्थाएं भी अपना योगदान दे सकती हैं। इसके साथ ही भोजन को वितरित करने के लिए कलेक्शन सेंटर बनाने का भी विचार दिया है क्योंकि हर कोई भोजन बांटने निकलेगा तो सोशल डिस्टेंसिंग प्रभावित होगी। इसलिए सीएम ने एक जगह से भोजन को एकत्रित करने उसे बांटने की सलाह दी है। इसके साथ ही भविष्य में किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना करना पड़े इसके लिए एनएसएस, एनसीसी, स्काउट्स और युवक मंगल दल से वालेंटियर तैयार करने की सलाह भी दी है।

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग विभाग के लिए सुझाव

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग विभाग के लिए आवश्यक सलाह दी है कि विभाग जरूरी सामानों का उत्पादन प्रदेश के अंदर ही करें। इससे उन सामानों की मार्केट में कमी नहीं आएगी और कम दाम पर भी उपलब्ध हो पाएंगे। इसके अलावा खादी के मास्क तैयार करने का भी सुझाव दिया है। जो दोबारा उपयोग में लाए जा सकें। खादी के मास्क तैयार करने में महिलाओं के सेल्फ हेल्प ग्रुप का सहयोग लेने के लिए कहा है जिससे महिलाओं को रोजगार भी मिल सके।

लॉकडाउन के बाद सोशल डिस्टेंसिंग का होगा सख्त पालन

लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सभी देशवासियों को करना होगा जिससे लॉकडाउन के बाद स्थिति बिगड़ न जाए। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी लॉकडाउन की तरह सख्ती से करना होगा। इसके साथ ही सीएम योगी ने मीटिंग में इंदौर की घटना का भी ज़िक्र किया। जहां उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि इंदौर जैसी घटना उत्तर प्रदेश में घटित नहीं होनी चाहिए। इस तरह की घटनाओं पर डिजास्टर एक्ट के तहत सख्त कारर्वाई करने का भी आदेश दिया है।तो ध्यान रहे लॉकडाउन खुलने के बाद भी आपको सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना आवश्यक है जिससे इन 21 दिनों के लॉकडाउन के परिणाम व्यर्थ न चले जाएं।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है