कालीन भईया के शहर में रोशनदान से भागा कोरोना वायरस का संदिग्ध, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप

0
314

मिर्जापुर के मंडलीय अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में बीते दिन कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज को रखा गया था, लेकिन स्वास्थ्य विभाग की घोर लापरवाही से संदिग्ध व्यक्ति रोशनदान के रास्ते निकलकर नौ दो ग्यारह हो गया।

नोएडा: उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से एक बेहद चौकाने वाला मामला सामने आया है। कालीन भईया के नाम से मशहूर मिर्जापुर शहर में कोरोना का एक संदिग्ध रोशनदान से भाग गया है। ये खबर जैसे जिले में फैली स्वास्थ्य विभाग समेत जनपद के तमाम बड़े आला अधिकारियों में हड़कंप मच गया।

आपको बता दें कि मिर्जापुर के मंडलीय अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में बीते दिन कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज को रखा गया था, लेकिन स्वास्थ्य विभाग की घोर लापरवाही से संदिग्ध व्यक्ति रोशनदान के रास्ते निकलकर नौ दो ग्यारह हो गया।

खबरों की माने तो मिर्जापुर के मंडलीय अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में तीन संदिग्ध मरीजों को कोरोना वायरस को लेकर भर्ती किया गया था। जिसमें से एक फरार हो गया है। बताया जा रहा है कि इसमें से जो युवक फरार हुआ है वो नेपाल के काठमांडू से हाल ही में लौटा था।

डॉक्टरों के मुताबिक भागे हुए संदिग्ध मरीज के सैंपल की जांच में अगर कोरोना वायरस की पुष्टि हो जाती है, तो फरार युवक जहां-जहां भी जाएगा वो लोगों में कोरोना वायरस को जन्म दे सकता है।

जाहिर है कि  कोरोना वायरस से दुनिया भर में तकरीबन दो लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं जिनको अपने- अपने देश में आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। कोरोना वायरस ने दुनिया भर में 6 हजार से ज्यादा लोगों को मौत की नींद सुला दिया है।

वहीं अगर भारत की बात की जाए तो भारत में कोरोना ने अबतक 147 से ज्यादा लोगों को अपने जद में ले लिया है। जबकि तीन लोगों की मौत भी हो चुकी है।

इन सब के बीच कोरोना वायरस से निपटने के लिए भारत सरकार लगातार प्रयास कर रही है। पूरे देश में 2 अप्रैल तक सभी पब्लिक सामुहिकता पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।    

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं