कोरोना वायरस से बचना है तो लगाएं छाता

वातावरण में मौजूद वायरस से बचाएगा अनोखा छाता

कोरोना के संक्रमण के कारण देश में लगातार इस जंग को जीतने के लिए संघर्ष किया जा रहा है। इस संघर्ष में जहां एक तरफ संक्रमण को फैलने से रोकने और मरीजों की जान बचाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ कोरोना से बचाव के लिए कोई वैक्सीन न होने के कारण दुनिया के सभी देश इस महामारी का तोड़ निकालने के लिए प्रयासरत हैं। ऐसे ही प्रयासों की श्रंखला में बिहार के एक युवा वैज्ञानिक ने संक्रमण से बचाव के लिए एक छाते का अविष्कार किया है। क्या हैं इस छाते की खूबियां और किस तरह से ये वायरस से लड़ने में कारगर साबित होगा आइए जानते हैं।

कोरोना के बीच चर्चा में आया मौलाना साद आखिर है कौन?

कोरोना के संक्रमण से बचाएगी अनोखी छतरी

जी हां, कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए बिहार के औरंगाबाद जिले के देवहरा गांव के युवा वैज्ञानिक विनीत ने एक अनोखी छतरी का अविष्कार किया जिसे उन्होंने हाईड्रोलिक प्रेशर के सिद्धांत पर बनाया है। अब आपको बतातें हैं कि आखिर ये छतरी वायरस से बचाने के लिए काम कैसे करती है। दरअसल इस अनोखे छाते में सैनिटाइजर को फिक्स किया गया है। जैसे ही कोई व्यक्ति छाते को खोलेगा तो अंदर से फिक्स सैनिटाइजर पर प्रेशर पड़ेगा जो ऊपरी हिस्से पर सैनिटाईजर का स्प्रे करेगा जिससे ये छाता खोलते ही व्यक्ति पूरी तरह से वायरस से सुरक्षित हो जाएगा।

क्या है सैनिटाइजर वाले छाते की कीमत ?

एक सामान्य छाते की कीमत मार्केट में 100 से 400 के बीच होती है लेकिन बिहार के वैज्ञानिक विनीत के बनाए इस सैनिटाइजर युक्त छाते की कीमत मात्र 200 रुपए होगी। यानि कि अब आप जब भी घर से बाहर निकलेंगे तो वातावरण में मौजूद वायरस से अपनी सुरक्षा कर पाएंगे।

दुनियाभर में कोरोना का कहर, जाने आकड़े

कितना उपयोगी साबित होगी ये सैनिटाइजर युक्त छतरी ?

लॉक डाउन के दौरान लोग अपने घरों में कैद हैं लेकिन जरूरी रोजमर्रा के सामान लाने के लिए बाजार जाना ही पड़ता है। तो वहीं एक शोध में ये बात स्पष्ट हो चुकी है कि कोरोना वायरस हवा में भी मौजदू हैं। ऐसे में जब आप घर से बाहर निकलते हैं तो एक खतरे की घंटी भी बजना शुरू हो जाती है क्योंकि वातावरण में आपके आस-पास कितने वायरस हैं ये आपको नहीं पता अब ऐसे में ये सैनिटाइजर युक्त छतरी बड़ी ही कारगर साबित हो सकती है क्योंकि आप घर से जैसे ही बाहर निकलेंगे तो आप छाते को खोलते ही वायरस मुक्त हो जाएंगे। काफी हद तक ये छतरी आपको सुरक्षित रखने में उपयुक्त है।

प्लास्टिक से पेट्रोल भी बना चुकें है बिहार के विनीत

सैनिटाइजर युक्त छाते पहले भी बिहार के विनीत अपने अविष्कार से दुनिया को चकित कर चुके हैं। विनीत ने प्लास्टिक से पेट्रोल बनाकर पूरी दुनिया को चौंका दिया था। जो प्लास्टिक पर्यावरण के लिए जहर बन चुकी है उस प्लास्टिक का सदुपयोग कर विनीत ने प्लास्टिक से पेट्रोल बनाया था।

चीन के कोरोना वायरस एक्सपर्ट का दावा, आने वाले 4 हफ्तों…

पीएम मोदी ने विनीत के अविष्कार को सराहा

बिहार के विनीत ने असंभव को संभव बनाते हुए पर्यावरण के लिए घातक प्लास्टिक के उपयोग से जिस तरह पेट्रोल, डीजल और टायल्स बनाने का काम कर दिखाया तो पीएम मोदी ने भी उनके इस अविष्कार की प्रशंसा की। उस दौरान अपने इस अविष्कार के कारण विनीत नेशनल चिल्ड्रेन साइंस कांग्रेस में बाल वैज्ञानिक चुने गए जिन्हे दिल्ली से प्रधानमंत्री का निमंत्रण भी आ गया। अब विनीत ने अनोखे छाते का अविष्कार किया है इस छाते को किस तरह का रिस्पॉन्स मिलता है और फिर अप्रूवल मिलने के बाद ये छाता कोरोनो के संक्रमण से बचाव में कितना कारगर साबित होगा ये देखना होगा।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं