30 अप्रैल तक नोएडा में धारा 144 लागू रखने का आदेश

क्या तीसरी स्टेज की आहट है नोएडा की झुग्गियों से मिले संक्रमण के मामले ?

उत्तर प्रदेश के नोएडा में कोरोना संक्रमण के मरीजों की बढ़ती संख्या सरकार के लिए बड़ी चुनौती बन गई है। जहां एक तरफ सरकार 15 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म करने के लिए तैयारी कर रही है तो वहीं दूसरी तरफ नोएडा में कोरोना के मामलों की बढ़ती संख्या सरकार खतरे का संकेत दे रही है। ऐसे में अपर पुलिस आयुक्त ने लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी नोएडा में धारा 144 लागू रखने का आदेश दिया है।

खुशखबरी: कोरोना को हराने के लिए बनाई जा रही ये वैक्सीन, नाक से डाली जाएगी दवा

30 अप्रैल तक नोएडा में धारा 144 लागू

लॉकडाउन खत्म करने का समय जैसे-जैसे करीब आ रहा है वैसे ही सरकार के सामने एक के बाद एक चुनौतियां भी सामने आ रही हैं। उत्तर प्रदेश में सबसे बुरा हाल नोएडा का है, जहां कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या 58 हो चुकी है। अब लॉकडाउन खत्म करने का समय भी नजदीक आ रहा है। इन्ही चुनौतियों से निपटने के लिए अपर पुलिस उपायुक्त आशुतोष द्वेदी ने नोएडा में धारा 144 कके आदेश को 5 अप्रैल से बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दिया है।

सभी कार्यक्रमों के आयोजन पर पाबंदी

धारा 144 को नोएडा में 30 अप्रैलल तक के लिए लागू कर दिया गया है। इसके तहत किसी भी प्रकार की रैली, जुलूस, प्रदर्शनी आदि कार्यक्रमों पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा रहेगा। जो भी व्यक्ति धारा 144 का उल्लंघगन करेगा उसके खिलाफ पुलिस द्वारा कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

15 अप्रैल से रेल परिचालन शुरू, वरिष्ठ नागरिकों को नहीं मिलेगी…

झुग्गी-झोपड़ियों में मिले कोरोना के मामलों से बढ़ी चिंता

नोएडा की स्थिति लगातार नियंत्रण के बाहर हो रही है। अभी तक नोएडा से कोरोना के जितने भी मामले सामने आए वो पॉश एरिया की सोसाइटी में या फिर बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियों में मिले लेकिन अब कोरोना ने झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वालों को भी अपना शिकार बनाना शुरू कर दिया है। सेक्टर-5 में स्थित झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले 4 लोगों में कोरोना पॉजिटिव मिला। इस मामले के बाद प्रशासन की नींद उड़ गई है। झुग्गी-झोपड़ियों तक पहुंचा कोरोना का अटैक भविष्य में आने वाले खतरे का संकेत दे रही है।

झुग्गी-झोपड़ियों से मिले कोरोना के मामले कहीं तीसरी स्टेज की दस्तक तो नहीं ?

झुग्गी-झोपड़ियों से मिले 4 कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मामले भविष्य में आने वाले खतरे का संकेत दे रही हैं। जिस तरह भारत में कोरोना के प्रकोप के बावजूद भारत कोरोना की तीसरी स्टेज से दूर था लेकिन झुग्गी-झोपड़ियों से मिले कोरोना पॉजिटिव के मामलों ने कोरोना की तीसरी स्टेज की आहट को पुख्ता कर दिया है।

केजरीवाल सरकार पर निजी बस मालिकों ने लगाया गंभीर आरोप

क्या है कोरोना की तीसरी स्टेज ?

नोएडा की झुग्गी-झोपड़ियों से मिले कोरोना पॉजिटिव मामले कोरोना की तीसरी स्टेज का संकेत दे रहे हैं। आखिर क्या है कोरोना की तीसरी स्टेज वो भी आपको बता दें कोरोना की तीसरी स्टेज को Community Transmission Stage कहते हैं अर्थात सामुदायिक फैलाव। ये वो स्टेज है जिसमें वायरस के संक्रमण का कारण नहीं पता चलता। अभी तक कोरोना के जितने भी मामले सामने आए हैं उनमें वायरस के संक्रमण की एक चेन या एक लिंक मिला है। कोरोना के मरीज से सीधा संपर्क, विदेश यात्रा के कारण संक्रमण या फिर संक्रमित मरीज से दो-तीन मरीजों से गुजरता हुआ अन्य व्यक्ति तक संक्रमण पहुंचना। लेकिन तीसरी स्टेज सबसे भयावह हैं क्योंकि इसमें अज्ञात कारण के कारण संक्रमण का मामला बढ़ता है यानि न विदेश यात्रा कारण बनती है, न विदेश से आए संक्रमित व्यक्ति से सीधा संपर्क होता है और न ही दूर तक किसी संक्रमित व्यक्ति से संपर्क होता है। नोएडा की झुग्गी-झोपड़ियों से मिले 4 कोरोना पॉजिटिव मामलों ने लोगों में एक दहशत फैला दी है। आपको जानकर ङैरानी होगी कि अब तक 3 ऐसे मामले भी सामने आ चुके हैं जिनमें संक्रमण का कारण अज्ञात है। जिससे तीसरी स्टेज का खतरा बढ़ता नजर आ रहा है।

नोएडा में बढ़ते मामलों को देखते हुए क्या लॉकडाउन समाप्त होना चाहिए ?

15 अप्रैल से लॉकडाउन खोलने का निर्णय लिया गया है लेकिन अगर बात नोएडा की करें तो जिस गति से मामले बढ़ रहे हैं क्या लॉकडाउन को निर्धारित तारीख पर खत्म करना सभी फैसला साबित होगा ? नोएडा के हालात भविष्य में आने वाले संकट की ओर इशारा कर रहे हैं। ऐसे में कोई भी गलत निर्णय पछतावे का कारण बन सकता है। हालांकि सरकार लॉकडाउन को खत्म करने के लिए कई मीटिंग के साथ ही पूरी योजना बना रही है कि किन चरणों में लॉकडाउन को खत्म किया जाए। तो वहीं अपर पुलिस उपायुक्त ने धारा 144 को 30 अप्रैल तक लागू किए जाने का आदेश दिया है। फिलहाल नोएडा बुरे दौर से गुजर रहा है। ऐसे में किसी भी बदलाव के विचार से पहले उसके परिणाम पर भी विचार करने की आवश्यकता है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है