फांसी के बाद निर्भया के दादा बोले- दो तिहाई कोरोना वायरस खत्म हो गया

0
18

निर्भया के दादा लाल सिंह ने गांव में चारों दोषियों को फांसी की सजा के साथ ही मिठाई बांटकर खुशी का इजहार किया।

करीब सात साल बाद निर्भया के दोषियों को तिहाड़ जेल में फांसी पर लटका दिया गया। जिसके बाद से ही पूरे देश में खुशी का माहौल है। दोषियों को फांसी पर लटकाए जाने के बाद निर्भया की मां आशा देवी का कहना है कि भगवान के घर में देर है, अंधेर नहीं। तो वहीं उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में स्थित निर्भया के गांव में जश्न का महौल है। निर्भया के दादा लाल सिंह ने गांव में चारों दोषियों को फांसी की सजा के साथ ही मिठाई बांटकर खुशी का इजहार करते हुए कहा कि दोषियों को फांसी पर लटकाए जाने के बाद दो-तिहाई कोरोना वायरस खत्म हो गया। इस दौरान लोगों ने एक दूसरे को एक दूसरे को गुलाल लगाया और गांव के एक शिव मंदिर के सामने मोमबत्तियां जलाकर खुशी का इजहार किया।

सात साल बाद निर्भया की मां ने जीती जंग, आखिरी वक्त…

चारों दोषियों को शुक्रवार सुबह 5 बजकर 30 मिनट पर फांसी दिए जाने के बाद निर्भया के दादा लाल सिंह ने कहा, “एक काली रात के बाद एक नई सुबह आई है। जहां निर्भया को न्याय मिला। हम लोग सात वर्षों से होली नहीं मना रहे थे लेकिन अब होली के साथ-साथ मिठाई भी वितरित की जाएगी। यह कार्यक्रम निर्भया के नाम से खुले स्वास्थ्य केंद्र पर किया जाएगा। दोषी कोरोना वायरस थे। इन लोगों को फांसी पर लटकाने के बाद से दो-तिहाई कोरोना वायरस खत्म हो चुका है। हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है।”

तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने सुबह इस बात की जानकारी दी गई कि चारों कातिलों को सुबह साढ़े पांच बजे एक साथ फांसी पर लटकाया गया। बता दें कि चारों दोषियों को फांसी पर लटकाने के लिए चार हैंगर बनाए गए थे, इनमें से एक का लीवर मेरठ से आए जल्लाद पवन ने खींचा, जबकि दूसरे का लीवर जेल स्टाफ ने खींचा। चारों को फांसी देने के लिए जल्लाद पवन को  60 हजार रुपये का जो मेहनताना दिया जाएगा।

क्या कहा निर्भया की मां ने?

निर्भया को फांसी पर लटकाए जाने पर निर्भया की मां ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि आज सात साल का संघर्ष पूरा हो गया, आखिरकार हमें इंसाफ मिल गया है। उन्होंने कहा कि देर आए दुरस्त आए। इस दौरान उन्होंने देश के लोगों का शुक्रिया अदा भी किया और कहा कि देश के लोगों ने निर्भया के लिए लड़ाई लड़ी है। आशा देवी ने कहा कि हम पिछले सात साल में निर्भया से अलग नहीं हुए हैं, हर पल हमने उसके दुख को महसूस किया। निर्भया की मां ने कहा कि वे 20 मार्च को निर्भया दिवस के रूप में मनाएगी।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं