21 Days Lockdown : लोगों को नहीं मिली बस-ट्रेन तो कुछ लोग पैदल, तो कुछ लोग ऑटो लेकर ही घर को निकले

0
19

लॉकडाउन के चलते पूरे देश में गाड़ियों की रफ्तार धीमी हो गई है। फोरलेन स्थित जिस टोल प्लाजा से रोजाना 2 हजार गाड़ियां गुजरती थी। वहां से महज 100 से 150 गाड़ियां ही गुजर रही हैं।

देश में कोरोना वायरस के कारण डर और भय का माहौल पैदा हो गया है। कोरोना वायरस का डर इतना है कि लॉकडाउन होने के बावजूद भी लोग घरों को कूच कर रहे है। चाहे उसके लिए उन्हें पैदल या फिर ऑटो में ही क्यूं न निकलना पड़े। इन लोगों में ज्यादातर मजदूर लोग शामिल है जो बिहार से संबंध रखते है। राजधानी दिल्ली में काम कर रहे ये मजदूर लॉकडाउन का ऐलान होते ही बोरिया-बिस्तर उठाये जो मिला, जब मिला उसमें बैठकर ही घर के लिए रवाना हो गए। इसके अलावा जिन्हें कुछ नहीं मिला उन्होंने पैदल ही घरों की ओर कूच करना शुरु किया।

लॉकडाउन के कारण धीमी हुई गाड़ियों की रफ्तार

लॉकडाउन के चलते पूरे देश में गाड़ियों की रफ्तार धीमी हो गई है। फोरलेन स्थित जिस टोल प्लाजा से रोजाना 2 हजार गाड़ियां गुजरती थी। वहां से महज 100 से 150 गाड़ियां ही गुजर रही हैं। जिसमें अधिकतर ट्रैक्टर ट्रॉली शामिल है। टैक्टर ट्रॉली के अलावा ऑटो और बाइक भी नजर आये। जिसमें बैठकर लोग लंबा सफर भी तय करने को तैयार हैं। लेकिन वो किसी भी हाल में जल्द से जल्द घर पहुंचना चाहते हैं। इसके अलावा सड़कों पर मौजूद दुकानें भी बंद ही नजर आ रही है। जिसके चलते घर जाने वाले राहगीरों को रास्ते में कुछ भी खाने को नहीं मिल रहा है। इसके अलावा लोग लिफ्ट देने से भी परहेज कर रहे हैं।

लगातार बढ़ रहा है मरीजों का आंकड़ा

देश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 650 के पार जा चुकी है। जबकि देश में मरने वालों का आंकड़ा 16 तक पहुंच गया है। इसी बीच ओडिशा और असम में कोरोना वायरस जैसी वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए तैयारियां शुरु कर दी हैं। वहीं देश में भी कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पीएम मोदी ने पूरे देश में 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं