जानें रामनवमी की खास जानकारी, तिथि, मुहूर्त और पूजा विधि

रामनवमी के दिन भगवान राम की खास पूजा-अर्चना की जाती है। तो आइए आपको बताते है

आज नवरात्र का छठा दिन है। अब रामनवमी भी दूर नहीं हैं। हिंदू धर्म में रामनवमी को एक पावन पर्व माना जाता है। यह पर्व भगवान श्रीराम के नाम समर्पित है। इसी दिन मर्यादा पुरुषोत्त्म श्रीराम का जन्म हुआ था। इसलिए रामनवमी के दिन भगवान राम की खास पूजा-अर्चना की जाती है। तो आइए आपको बताते है इसकी इस बार राम नवमी तिथि कब है? रामनवमी का मुहूर्त कब है और इसकी पूजा विधि आदि सभी सवालों का जवाब–

रामनवमी का शुभ मुहूर्त-

  • 2 अप्रैल सुबह 11:10 बजे से दोपहर 1:38 बजे तक
  • नवमी आरंभ – 03:39 (2 अप्रैल 2020)
  • नवमी समाप्त – 02:42 (3 अप्रैल 2020)

इस नवरात्रि करें मां को खुश, पाए संतान का सुख

रामनवमी धार्मिक ग्रंथों के अनुसार

साल 2020 में रामनवमी का पर्व 2 अप्रैल के दिन मनाया जाएगा। रामनवमी हर साल चैत्र शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को पड़ता है। इस साल ये तिथि 2 अप्रैल के दिन है। हिन्दू धार्मिक ग्रंथों के अनुसार त्रेतायुग में इसी तिथि के दिन अयोध्या में राजा दशरथ और माता कौशल्या के यहां भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था। भगवान श्रीराम विष्णु जी के ही अवतार हैं।

ऐसे मनाए रामनवमी

रामनवमी के दिन भगवान राम की खास पूजा की जाती है। इस दिन विशेष तौर पर श्रीराम की मूर्तियों को गंगा जल से स्नान कराया जाता हैं। स्नान के बाद उनकी मूर्ति को पालने में झुला झुलाया जाता है। साथ ही इस दिन भक्त रामायण का पाठ करते हैं। और इस दिन राम मंदिर में भगवान श्रीराम के भजन-कीर्तन गाये जाते हैं। इस दिन बहुत लोग व्रत-उपवास करते हैं।

अगर नवरात्रि में दिखाई ये चीजें तो समझ जाइए दूर होने वाली हैं, सभी…

ऐसे करें रामनवमी की व्रत विधि

रामनवमी के दिन सुबह जल्दी उठाना चाहिए।

  • स्नान कर स्वच्छ कपड़े धारण करें।
  • पूजा स्थल पर पूजन सामग्री के साथ बैठें।
  • पूजा में तुलसी का पत्ता और कमल का फूल अवश्य रखें।
  • ये सब करने के बाद श्रीराम नवमी की पूजा षोडशोपचार करें।
  • फल-मूल और खीर को प्रसाद के रूप में तैयार करें।
  • पूजा करने के बाद घर में सबसे छोटी महिला सभी लोगों के माथे पर तिलक लगाएं।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं