काल बनता कोरोना, महामारी घोषित होने के बाद भारत ने कही ये बात

0
375

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि जिन-जिन देशों में कोरोना वायरस का प्रभाव सबसे ज्यादा है, हम लगातार कोशिश कर रहे हैं कि उन देशों से अपने लोगों को स्वदेश वापस जाए।

नई दिल्ली: विश्व पटल पर कोरोना वायरस एक बहुत बड़ी समस्या बनती चली जा रही है। पूरी दुनिया आज इस वायरस से कैसे बचे इस पर लगातार विचार कर रही है। कोरोना के प्रकोप में अब तक 1 लाख से ज्यादा लोग आ चुके हैं। जिसमें से अब तक साढ़े चार हजार लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना वायरस आज की तारीख में पूरी दुनिया के लिए न सिर्फ एक चुनौती है बल्कि किसी जंग जितने से कम नहीं है। इस जंग में भारत लगातार अपने नागरिकों को सुरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध दिख रहा है। चीन के साथ-साथ तमाम देशों से भारत ने अपने लोगों को एयरलिफ्ट कर लिया है।

गुरुवार को कोरोना वायरस के सिलसिले में संसद में बोलते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि जिन-जिन देशों में कोरोना वायरस का प्रभाव सबसे ज्यादा है, हम लगातार कोशिश कर रहे हैं कि उन देशों से अपने लोगों को स्वदेश वापस जाए।

विदेश मंत्री ने कहा कि ईरान के कई राज्यों में लगभग छ हजार से ज्यादा लोग फंसे हुए हैं। जो भारतीय है। उन्होंने कहा कि ईरान से 58 भारतीय नागरिकों को मंगलवार को वापस लाया गया है और दो सौ से अधिक अन्य लोगों को लाने की तैयारी है।

कोरोना वायरस को लेकर सरकार कितनी गंभीर है इसको बताते हुए विदेश मंत्री एस जय शंकर ने कहा कि मैं अपने नागरिकों को बताना चाहता हूं कि देश का कोई भी नागरिक अगर विदेश में फंसा हुआ है तो उसकी चिंता करना मेरी जिम्मेदारी है।

वहीं कोरोना वायरस का असर भारत में आर्थिक लिहाज से भी लगातार देखने मिल रहा है। गुरुवार को सेंसेक्स और निफ्टी भारी गिरावट के साथ खुला। सेंसक्स, 1224 अंको की भारी गिरावट के साथ 34472 के स्तर पर खुला, जबकि निफ्टी, 498.30 अंको की गिरावट के साथ 9,960.10 के स्तर पर खुला।

शेयर बाजार में टाटा स्टील, कोल इंडिया, वेदांता लिमिटेड, आईओसी, इंडसइंड बैंक, बीपीसीएल, इंफोसिस, टाटा मोटर्स और पावर ग्रिड के शेयर शीर्ष स्तर पर है।

भारत में कोरोना वायरस की पुष्टि अबतक 73 लोगों में हो चुकी है, जिनको आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। 

AB STAR NEWS के  ऐप को डॉउनलोउड  कर सकते. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं