IRCTC ने यात्रियों को दी सलाह- रद्द ना करें ई-टिकट, नहीं तो पछताना पड़ेगा

रेलवे की अधिकतर सेवाएं बंद होने के बाद यात्री रेल टिकट कैंसिल कर रहे हैं। इस बीच आईआरसीटीसी ने एक जरूरी सूचना दी है।

भारत में 14 अप्रैल तक के लिए कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन कर दिया गया। जिसके चलते भारतीय रेलवे ने भी अपनी कुछ ट्रेनों के पहिए 14 अप्रैल यानी 21 दिन के लिए रोक दिए हैं। मेल, एक्सप्रेस तथा पैसेंजर सेवाओं को भारतीय रेलवे ने बंद कर दिया है। लेकिन मालगाड़ी सेवा अभी बरकरार है।

लॉकडाउन के बीच सीएम केजरीवाल का ऐलान, दिल्ली में दुकानदारों को ई-पास, अब सीधे कमिश्नर से शिकायत

रेलवे की अधिकतर सेवाएं बंद होने के बाद यात्री रेल टिकट कैंसिल कर रहे हैं। इस बीच आईआरसीटीसी ने एक जरूरी सूचना दी है। आईआरसीटीसी ने बयान जारी करते हुए कहा कि यात्री अपना टिकट कैंसिल ना करे। अगर कोई यात्री अपना टिकट रद्द करता है तो ऐसे में संभावना है कि उसे कम पैसा मिले। आईआरसीटीसी का कहना है कि यात्री टिकट उन खुद से टिकट कैंसिल ना करे। आईआरसीटीसी ने इस बात की भी जानकारी दी है कि रेलगाड़ी रद्द होने के मामले में किसी भी प्रकार से पैसे में कटौती नहीं की जाती है। वहीं ई-टिकट बुकिंग के लिए इस्तेमाल किए गए बैंक खाते में वापस पैसा भेज दिया जाएगा।

लॉकडाउन के बीच सीएम केजरीवाल का ऐलान, दिल्ली में दुकानदारों को ई-पास, अब सीधे कमिश्नर से शिकायत

बता दें, देश में कोरोना वायरस की वजह से स्कूल-कॉलेज, मॉल, जिम, स्पोर्ट्स क्लब हर वो जगह बंद कर दी गई है जहां भीड़ में लोग इकट्ठा हो। भारत सरकार कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिर संभव प्रयास कर रही है। दुनिया भर में जहां कोरोना के मरीजों की संख्या 424,048 हो गई है और मरने वालों की संख्या 19 हजार के करीब पहुंच गई है। भारत में 582 लोग इससे संक्रमित है वहीं 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं