सोशल डिस्टेंसिंग के लिए Google का प्लान

आपकी लोकेशन पर रहेगी गूगल की निगरानी

कोरोना वायरस से संबंधित जानकारी और लॉकडाउन का पालन कराने के लिए जिस तरह गूगल ने वेबसाइट को लॉन्च किया था। तो वहीं अब गूगल ने सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए भी योजना बनाई है जिससे कोरोना महामारी के प्रकोप को और अधिक बढ़ने से रोका जा सके।

जानिए क्या है Google की नई योजना ?

पूरे देश ही नहीं दुनिया में लॉकडाउन को खत्म करना एक बड़ी चुनौती है। अगर बात भारत की करें तो फिलहाल कयास लगाए जा रहे हैं कि 15 अप्रैल से लॉकडाउन खत्म हो जाएगा लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग को प्रभावित नहीं होने देना है वरना स्थिति बेहद गंभीर हो सकती है। लॉकडाउन को खत्म करने के लिए केंद्र से लेकर राज्य स्तर पर मीटिंग और सुझाव का दौरा जारी है। ऐसे में गूगल ने सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने के लिए 131 देशों को चुना है। जिन्हे लोकेशन के आधार पर वहां मौजूद लोगों की संख्या अधिक होने की जानकारी दी जाएगी।

कोरोना वायरस से बढ़ा मौत का आकड़ा, भारत में आकड़ा 72 पार

131 देशों की लिस्ट में भारत शामिल

गूगल ने सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए किसी विशेष स्थान पर मौजूद लोगों की अधिकतम संख्या से बाधित हो रही सोशल डिस्टेंसिंग की जानकारी को एक वेबसाइट के माध्यम से पहुंचाने की योजना तय की है। जिन 131 देशों को गूगल ये डेटा उपलब्ध कराएगा उसमें भारत भी शामिल है।

किस तरह काम करेगा गूगल का प्लान?

सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो कराने के लिए ये प्लान बहुत अच्छा है लेकिन किस तरह ये प्लान काम करेगा चलिए वो भी आपको बता दें। इस प्लान की सफलता के लिए गूगल ने जो रणनीति बनाई है वो गूगल लोकेशन पर आधारित है। गूगल अपने यूजर्स स्मार्टफोन लोकेशन की मदद से एक रिपोर्ट तैयार करेगा। गूगल यूजर्स के मूवमेंट ट्रेंड की निगरानी करेगा। इससे ये स्पष्ट होगा कि किस स्थान पर लोगों की भीड़ ज्यादा जुट रही है और किस स्थान पर कम। ये प्लान ट्रैफिक जाम की जानकारी देने की तरह ही कामम करेगा यानि कि जिस तरह आपको अपने आस-पास की ट्रैफिक स्थिति गूगल से पता चल जाती है। ठीक उसी तर्ज पर ये प्लान भी काम करेगा। ये प्लान भीड़ की संख्या का आंकड़ा नहीं देगी बल्कि कहां लोगों की संख्या बढ़ रही है, किस स्थान पर भीड़ कम है इसकी स्थिति का डेटा मुहैया कराएगी। जिससे सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो करवाने में मदद मिल सके और समय रहते स्थिति को संभाला जा सके।

कांग्रेस शासित राज्यों को राहुल गांधी ने दी सलाह, कहा- कोरोना टेस्ट की संख्या बढ़ाए

कितना सफल होगा गूगल का प्लान ?

गूगल ने इस महत्वपूर्ण प्लान को ब्लॉग पर शेयर किया है जिसमें गूगल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आशा जताते हुए कहा है कि ’हमें उम्मीद है कि इस रिपोर्ट की मदद से कोविड-19 महामारी को रोकने में मदद मिलेगी’। इसके अलावा ब्लॉग में गूगल ने स्पष्ट किया है कि किसी भी व्यक्ति की संवेदनशील जानकारी और कॉन्टैक्ट्स का डेटा उपलब्ध नहीं कराया जाएगा। आपको बता दें कई देशों में इलेक्ट्रॉनिक मॉनिटरिंग की भी व्यवस्था है। चीन, सिंगापुर और इजरायल आदि देशों में सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए सरकार न इलेक्ट्रॉनिक मॉनिटरिंग का आदेश दिया है। वहीं अग भारत की बात करें तो जिस तरह 15 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म करने पर विचार किया जा रहा है, उसे देखते हुए गूगल का ये प्लान सरकार की मदद करने में उपयोगी सिद्ध हो सकता है। गूगल का ये प्लान बड़ा ही महत्वपूर्ण है क्योंकि भविष्य को देखते हुए हमें हर स्थिति को बिगड़ने से पहले ही संभालने की जरूरत है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है