नवरात्र के पहले दिन दुनिया के लिए खुशखबरी, अमेरिका में तैयार हुआ कोरोना वायरस का टीका!

नवरात्रि का पहला दिन पूरी दुनिया के लिए खुशखबरी लाया है। कहा जा रहा है अमेरिका ने इस वायरस का टीका तैयार कर लिया है।

इस वक्त पूरी दुनिया में कोरोना कहर बरपा रहा है।जिसके कारण सभी अपने घरों में बंद है। इस बीच आज यानी बुधवार 25 मार्च से नवरात्र की शुरुआत हो गई है। वहीं नवरात्रि के पहले दिन दुनिया के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। कहा जा रहा है शक्तिशाली देशों में शुमार अमेरिका ने इस वायरस का टीका तैयार कर लिया है। बताया जा रहा है वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए सफल टीका तैयार किया है जिसके 4 देशों में क्लीनिकल ट्रायल के शानदार नतीजे आए हैं। वहीं अब अमेरिकी सरकार जल्द इसके टीके तैयार करने की जल्द मंजूरी दे सकती है।

चीन, दक्षिण कोरिया, फ्रांस और अमेरिका में सफल परीक्षण

CDC (सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेशन ) के मुताबिक, अमेरिकी सांइटिस्टों ने क्लोरोक्वीन और हाड्रोक्सिक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) को सांझा कर एक टीके का निर्माण किया है। इस टीके के क्लीनिकल ट्रायल (Clinical trial) के लिए अमेरिका की फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने मंजूरी दे दी है। चीन, दक्षिण कोरिया, फ्रांस और अमेरिका में इस टिके का ट्रायल पिछले एक महीने से सफल रहा है। जिन मरीजों के इलाज के लिए इस टीके का इस्तेमाल किया गया उनमें काफी प्रभावी नतीजे मिले हैं।

नवरात्रि के 9 दिन मां के इन नौ स्वरूपों की होगी पूजा, जानें हर दिन का महत्व

अमेरिकी सरकार जल्द शुरू कर सकती है इलाज

अमेरिकी वैज्ञानिकों की माने तो, “कोरोना वायरस को खत्म करने में इस नए टीके ने सफलता हासिल की है”। हालांकि FDA द्वारा किसी भी टीके को मंजूरी दिए जाने में काफी लंबा समय लगाता है। लेकिन वैश्विक चुनौती और हालातो के मद्देनजर ऐसा मन जा रहा है जल्द ही इसे हरी झंड़ी मिल सकती है।वैज्ञानिको के अनुसार, “सार्स को खत्म करने में इस दवा ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. इस बार इस टीके में कोरोना वायरस के जेनेटिकल कोड के हिसाब से बदलाव किए गए हैं. कोरोना वायरस से लड़ने में इस टीके के नतीजे काफी आशाजनक हैं”। बताते चलें कि कोरोना वायरस, सार्स का ही बिगड़ा रूप है।

कोरोना संकट: देश में 21 दिन के लॉकडाउन में नियम तोड़ने…

भारत बिना देरी इस्तेमाल कर सकता है टीका

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, “अगर किसी टीके को अमेरिका के FDA  से मंजूरी मिल जाती है तो हम बिना देरी किए तुरंत भारत में भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं. अमूमन भारत में किसी नई दवा को इलाज में लाने से पहले लंबे प्रोसेस से गुजरना होता है. सामान्य प्रोसेस में मंजूरी मिलने में 2-3 महीने भी लग जाते हैं. लेकिन कोरोना वायरस के टीके को बिना देरी मंजूरी मिलेगी”।
गौरतलब हो कि, मंगलवार को प्रधानमंत्री (Prime Minister) नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने देश में अगले 21 दिनों के लिए लॉकडाउन का अहम फैसला लिया है।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं