Delhi AIIMS ने लिया बड़ा फैसला, ट्रॉमा सेंटर COVID-19 अस्पताल में तब्दील

0
88

दिल्ली एम्स के ट्रामा सेंटर की पूरी बिल्डिंग को कोविड-19 अस्पताल में तब्दील करने का फैसला किया गया है।

Coronavirus (कोरोना वायरस) की महामारी के कारण रोजाना इसकी संख्या बढ़ती जा रही है जिसे लेकर Delhi (दिल्ली) के All India Institute of Medical Sciences (अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान) (एम्स) ने एक फैसला लिया है। बता दें कि एम्स के ट्रामा सेंटर की पूरी बिल्डिंग को COVID-19 (कोविड-19) अस्पताल में तब्दील करने का फैसला किया गया है।

कोरोना वायरस से अब तक 110 संक्रमित मरीज हुए ठीक, जाने कहा…..

एक समाचार एजेंसी के मुताबिक, इसकी तैयारियां जोरो से की जा रही है। आपको पता ही होगा की एम्स का ट्रॉमा सेंटर इलाज के लिए सबसे बेहतरीन माना जाता है और ये एकमात्र ऐसा अस्पताल है जहां एक से एक गंभीर बिमारियों का इलाज किया जाता है। ट्रामा सेंटर खासकर दुर्घटना के मामले निपटाता है। वहीं अब ये ट्रामा सेंटर पूरी तरह से COVID-19 (कोविड-19) के मरीजों के लिए बनाया जा रहा है। प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि ट्रामा सेंटर में सबसे पहले 250 बेड लगाए जाएंगे, जहां कोरोना के मरीजों का इलाज किया जाएगा। एम्स प्रशासन जल्द ही इसक बात की आधिकारिक घोषणा करने वाली है।

एम्स में Coronavirus (कोरोना वायरस) को हराने की पूरी तैयारी चल रही है। वहीं ट्रामा सेंटर की सभी कैजुअल्टी और पूरी इमरजेंसी टीम को अब मेन इमरजेंसी में शिफ्ट कर दिया गया है। फिलहाल अभी ट्रामा सेंटर में 242 बेड है जिसमें 18 बेड और जोड़ने की तैयारी चल रही है। इन सभी बेड में से 50 बेड आईसीयू के लिए हैं जबकि 30-40 बेड हाई-डिपेंडेंसी यूनिट के लिए है। इस सेंटर में 70 वेंटिलेटर्स की भी सुविधा कराई गई दी गई है, जरूरत के मुताबिक इसकी बढ़ोतरी की जाएगी।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं