कोरोना: सार्क बैठक में बेशर्म पाकिस्तान ने उठाया कश्मीर का मुद्दा, कही ये बात  

0
20

पाकिस्तान का ये बयान सार्क देशों के सामने खुद की बेइज्जती कराने के बराबर है। एक ओर पाकिस्तान ने जहां मतलबी अंदाज में कश्मीर का मुद्दा उठाया वहीं भारत के प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी ने बेहद गंभीरता से दक्षेस देशों के सामने अपनी बात रखी।

नई दिल्ली: नापाक पाकिस्तान ने एक बार फिर कश्मीर का राग अलापा है। ये राग तब अलापा है, जब पूरी दुनिया एक ऐसे वायरस की चपेट में है, जिसका बचाव के अलावा कोई भी इलाज अभी तक सामने नहीं आ पाया है।  लेकिन पाकिस्तान है कि अपनी आदतों से बाज नहीं आता है। इस नाजुक घड़ी में पाकिस्तान को कश्मीर याद आ रहा है।

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सार्क देशों के साथ कोरोना वायरस से कैसे निपटा जाए और क्या रणनीति बने इसको को लेकर बैठक कर रहे थे। जिसमें सार्क देशों को सभी सदस्य मौजूद थे। तभी वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिए पाकिस्तान ने कश्मीर का मुद्दा उठाते हुए कहा कि कोरोना वायरस के खतरे से निपटने के लिए जम्मू कश्मीर में सभी तरह की पाबंदी को हटा देना चाहिए।

पाकिस्तान का ये बयान सार्क देशों के सामने खुद की बेइज्जती कराने के बराबर है। एक ओर पाकिस्तान ने जहां मतलबी अंदाज में कश्मीर का मुद्दा उठाया वहीं भारत के प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी ने बेहद गंभीरता से दक्षेस देशों के सामने अपनी बात रखी।

कोरोना को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस आज की तारीख में विकासशील देशों के लिए एक बड़ी चुनौती है। पीएम मोदी ने सार्क के देशों को आर्थिक सहायता करने के लिए इमर्जेंसी फंड देने की घोषणा की। जिसमें 10 मिलियन डॉलर यानि एक करोड़ डॉलर देने की बात कही।

वीडियों कांफ्रेंसिंग में जरिए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस (कोविड -19) के लिए एक इमर्जेंसी फंड बनाने का मैं प्रस्ताव देता हूं। आपकों बता दें कि वायरस की जद में अबतक दुनिया भर के करीब डेढ़ लाख से ज्यादा लोग आ चुके हैं। 

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं