कोरोना वायरस को लेकर असम सरकार बना रही है आईसोलेशन सेंटर

चीन के वुहान शहर से फैले घातक Coronavirus (कोरोना वायरस) के कारण दुनिया में 21,308 लोगों की मौत हो गई है

Coronavirus (कोरोना वायरस) से संक्रमित रोगियों के लिए सरकार कई उपयोगी कदम उठा रही है। असम सरकार ने गुवाहाटी के Indira Gandhi Athletic Stadium (इंदिरा गांधी एथलेटिक स्टेडियम) में isolation centre (आईसोलेशन सेंटर) का निर्माण शुरू कर दिया है। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए यह कार्रवाई शुरू की जा रही है। हालांकि राज्य में अभी तक कोई Coronavirus (कोरोना वायरस) संक्रमित मामले नहीं पाए गए हैं, लेकिन जिस तरह से देश में इसका संक्रमण बढ़ रहा है, उसे एहतियात के तौर पर किया जा रहा है। इस दौरान राज्य के स्वास्थ्य मंत्री Himanta Biswa Sarma (हिमन्त विश्व शर्मा) भी यहां मौजूद थे।

एबीस्टार की राज्य सरकारों से अपील दैनिक उपभोग की आवश्यक वस्तुओं…

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री Himanta Biswa Sarma (हिमन्त विश्व शर्मा) ने कहा कि “राज्य सरकार सरुसजय खेल परिसर में 700 लोगों के लिए पृथक सुविधा केंद्र बना रही है। इसमें अलग-अलग कमरे और इससे जुड़े शौचालय होंगे। एक सप्ताह के भीतर यह तैयार हो जाएगा।“ उन्होंने कहा, ‘‘अस्थायी अस्पतालों के संबंध में हमने निजी क्षेत्र के एक अग्रणी निर्माण कंपनी के साथ बातचीत की है । असम के सत्तारूढ और विपक्षी, लगभग सभी सांसदों ने अस्पताल बनाए जाने के लिए सहायाता राशि देने की पेशकश की है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगले दो-तीन दिनों में यह तय हो जाएगा। हम ऐसी जगहों पर अस्पताल बनाने की सोच रहे हैं जहां पर मेडिकल कॉलेज नहीं है।’’

Coronavirus :  जानिए देश के किस राज्य में बनेगा देश का सबसे पहला COVID-19 अस्पताल

चीन के वुहान शहर से फैले घातक Coronavirus (कोरोना वायरस) के कारण दुनिया में 21,308 लोगों की मौत हो गई है, जबकि लगभग 5 लाख लोग इससे संक्रमित पाए गए हैं। यह वायरस जानलेवा साबित हो रहा है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह शरीर पर कैसे हमला करता है? यह वायरस आपके शरीर में प्रवेश करता है जब आप सांस के माध्यम से संक्रमित बूंदों को खींचते हैं या आप एक संक्रमित सतह को छूते हैं और फिर उसी हाथ से आप आपनी आंख, मुंह या नाक से स्पर्श करते हैं। इसके बाद, वायरस के कण गले तक पहुंच जाते हैं और कोशिकाओं पर छिप जाते हैं। अगर कोरोना से संक्रमित कोई व्यक्ति खांसता या छींकता है तो उस प्रक्रिया में उसके मुंह या नाक से कुछ बूंदें गिरती हैं, इनसे कोरोना का संक्रमण हो सकता है. एक प्रोफेसर ने कहा कि कोरोना का वायरस इन बूंदों की मदद से दूसरे व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर सकता है.

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं