कोरोना के खिलाफ जंग में साथ देंगे सेना के 8,500 मेडिकल स्टाफ

सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवाने ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से कहा है कि 8,500 से ज्यादा डॉक्टर और सहायक कर्मचारी कोरोना की महामारी का मुकाबला करने को तैयार हैं।

भारत में Coronavirus (कोरोना वायरस) संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। वायरस से बचाव के लिए युद्ध स्तर की तरह तैयारी शुरू कर दी गई है। सेना प्रमुख Gen MM Naravane (जनरल एमएम नरवाने) ने Defence Ministry Rajnath Singh (रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह) से कहा है कि 8,500 से ज्यादा डॉक्टर और सहायक कर्मचारी कोरोना की महामारी का मुकाबला करने को तैयार हैं। इतना ही नहीं, बल्कि उन्होंने यह भी कहा कि जल्द ही चिकित्सा उपकरणों की मदद के रूप में नेपाल को आपूर्ति की जाएगी। समाचार एजेंसी ने रक्षा मंत्रालय के हवाले से यह जानकारी दी है।

कोरोना से बचना है तो अपनाएं ये टिप्स

इस मामले पर, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ General Bipin Rawat (जनरल बिपिन रावत) ने रक्षा मंत्री को बताया कि Coronavirus (कोरोना वायरस) के रोगियों के उपचार के लिए विभिन्न अस्पतालों की विशेष रूप से पहचान की गई है। उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना संक्रमणों के उपचार के लिए 9000 से अधिक बेड वाले अस्पताल की व्यवस्था की गई है। रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि मुंबई, जैसलमेर, चेन्नई, जोधपुर, मानेसर और हिंडन में 1,000 से अधिक लोगों को रखा गया है। अगले सात अप्रैल 2020 तक उनकी आइसोलेशन पीरियड हो जाएगी।

भाई की मौत के बाद बौखलाए कोरोना पॉजिटिव मरीज ने किया डॉक्टर पर हमला

Air Chief Marshal RKS Bhadauria (वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया) ने रक्षा मंत्री Rajnath Singh (राजनाथ सिंह) को बताया कि पिछले पांच दिनों में, वायु सेना के विमानों ने विभिन्न स्थानों पर 25 टन चिकित्सा आपूर्ति की है। उन्होंने यह भी बताया कि महत्वपूर्ण परिचालन कार्य सभी सावधानियों को ध्यान में रखते हुए चल रहे हैं।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं