छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन को गंभीरता से ना लेने वालों पर पुलिस सख्त, 28 मामले दर्ज

0
489
छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन को गंभीरता से ना लेने वालों पर पुलिस सख्त

डीएम अवस्थी ने कहा कि लॉकडाउन का पालन कराने के दौरान वह अपना मानवीय चेहरा भी बनाए रखे। लोगों के साथ मारपीट, दुर्व्यवहार, जैसी घटनाएं सामने नहीं आनी चाहिए।

कोरोना वायरस के चलते भारत में 21 दिन का लॉकडाउन जारी है। लोग घरों में रहकर कोरोना से बचने की जुगत में हैं। लेकिन इस बीच कुछ लोग ऐसे भी हैं जो लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ में पुलिस ने ऐसे 28 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की है। राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने और विदेशी यात्रा के बारे में छिपाने वाले लोगों के खिलाफ 28 मामले दर्ज किए गए हैं।

दिल्ली छोकड़कर जा रहे लोगों से केजरीवाल ने की अपील, कहा- ऐसा करने से बढ़ते सकते हैं कोरोना के मामले

पुलिस के मुताबिक धारा 188, 269 और 270 के तहत मुकदमें दर्ज किए गए हैं। राज्य के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने सभी पुलिस अधिकारियों को लॉकडाउन का पालन कराने का आदेश दिया है। इसी के साथ डीएम अवस्थी ने कहा कि लॉकडाउन का पालन कराने के दौरान वह अपना मानवीय चेहरा भी बनाए रखे। लोगों के साथ मारपीट, दुर्व्यवहार, जैसी घटनाएं सामने नहीं आनी चाहिए। अगर ऐसी घटना कही होती है तो इसके लिए सभी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी और नगर पुलिस अधीक्षक जिम्मेदार होंगे।

इन 9 लक्षणों से पहचाने कोरोना है या फ्लू

बता दें, लॉकडाउन के बीच पुलिस का मानवीय चेहरा भी सामने आ रहा है। देश के कई हिस्सों से ऐसी तरस्वीरें भी सामने आई जिसमें पुलिस ने आगे बढ़कर जरूरतमंदों की मदद की। पुलिस ऐसे लोगों का सहारा भी बनी है जो गरीब हैं और रोज कमाते खाते हैं। पुलिस दिन रात एक कर लोगों की सुरक्षा में खड़ी है। कोरोना संकट के बीच कई लोग भी मसीहा बनकर भी सामने आये हैं। जो पुलिस के इस साहस को सलाम करते हुए उनकी मदद के लिए आगे आए।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं