कोरोना वायरस के चलते टोक्यो ओलंपिक एक साल के लिए टला

ओलंपिक टलना टोक्यो शहर के लिए बड़ा नुकसान बताया जा रहा है। क्योंकि ओलंपिक के लिए टोक्यो शहर में काफी तैयारियां कर ली गई थी।

खेलो के कई बड़े टूर्नामेंट्स को नजर लगान के बाद कोरोना वायरस ने टोक्यो ओलंपिक को भी रद्द करा दिया है। जून-जुलाई में होने वाले ओलंपिक को एक साल तक टाल दिया गया है। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) के अध्यक्ष थामस बाक के सामने ओलंपिक को टालने की पेशकश की थी।

शिंजो आबे का कहना है कि उन्होंने आईओसी अध्यक्ष थामस बाक से ओलंपिक को टालने की अपील की। जिसके बाद आईओसी ने उनकी बात मान ली। थामस बाक ने इस पर सहमति जताई है। शिंजो आबे और थामस बाक ने मिलकर ओलंपिक को एक साल के लिए टालने का फैसला किया है। ओलंपिक टलना टोक्यो शहर के लिए बड़ा नुकसान बताया जा रहा है। क्योंकि ओलंपिक के लिए टोक्यो शहर में काफी तैयारियां कर ली गई थी। स्टेडियम तैयार हो गए थे, टिकट भी काफी संख्या में बिक चुके थे।

IOC पर खेलों को टालने का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा था। ज्यादातर देशों ने अपने खिलाड़ियों को ओलंपिक के लिए भेजने से मना कर दिया था। जिसमें कनाडा, अमेरिका शामिल हैं। वहीं न्यूजीलैंड, जर्मनी, इंग्लैंड ने भी की थी खेलों को टालने की मांग की थी। इसी के साथ भारतीय खिलाड़ी भी ओलंपिक को टालने की मांग लगातार कर रहे थे। बजरंग पुनिया ने तो यहां तक बोल दिया था कि अगर जिंदा रहेंगे तभी खेल पाएंगे।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं