क्रिकेट जगत के वो खिलाड़ी जो अपने पूरे करियर में एक भी छक्का नहीं लगा पाए

क्रिकेट की इस दुनिया में क्रिस गेल समेत कुछ ऐसे भी बल्लेबाज है जो ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं।

पूरी दुनिया में क्रिकेट का रोमांच देखने को मिलता है। बदलते दौर के साथ-साथ क्रिकेट को खेलने का तरीका भी बदला है। चाहे बल्लेबाज हो या गेंदबाज सभी ने समय के साथ-2 अपने खेल में बदलाव किया है। क्रिकेट की इस दुनिया में क्रिस गेल समेत कुछ ऐसे भी बल्लेबाज है जो ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। तो वहीं राहुल द्रविड़ समेत कुछ ऐसे भी बल्लेबाज है जो अपनी सधी हुई बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। आज हम कुछ ऐसे ही बल्लेबाजों के बारे में बात करने जा रहे हैं जो अपने पूरे क्रिकेट करियर में एक भी छक्का नहीं लगा पाए हैं। इन खिलाड़ियों में भारतीय टीम का एक बल्लेबाज भी शामिल है।

थिलान समरवीरा :-  इन खिलाड़ियों में सबसे पहले हम श्रीलंका के उस खिलाड़ी का जिक्र करेंगे जिसने अपने टेस्ट करियर में श्रीलंकाई टीम के लिए कई बेहतरीन पारियां खेली। श्रीलंका के उस बल्लेबाज का नाम है थिलान समरवीरा। समरवीरा ने श्रीलंका के लिए कई अहम पारियां खेली है। लेकिन अपने क्रिकेट करियर में खेले गए 53 एकदिवसीय मैचों में वो एक भी छक्का नहीं लगा पाए। 43 वर्षीय थिलन समरवीरा ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत 6 नंवबर 1998 में भारत के खिलाफ की थी। उन्होंने अपना आखिरी एकदिवसीय मैच 2 अप्रैल 2011 को भारत के ही खिलाफ खेला था। थिलन समरवीरा ने अपने 53 मैचों में 27.8 की औसत और 2 शतकों की बदौलत 862 रन बनाये हैं।

अगले सप्ताह हो सकता है टोक्यो ओलंपिक की नई तारीखों का…

डियोन इब्राहिम :  डियोन इब्राहिम का नाम भी उन खिलाड़ियों में शामिल है जो अपने करियर में एक भी बार छक्का नहीं लगा पाए। जिंबाब्वे के खिलाड़ी डियोन इब्राहिम ने अपने करियर में 82 एकदिवसीय मैच खेले हैं। जिसमें उन्होंने 20 की औसत और 3 अर्धशतकों की मदद से 1443 रन बनाये। लेकिन इस दौरान वो एक भी छक्का नहीं लगा पाए।

Coronavirus: बीसीसीआई ने बढ़ाया मदद का हाथ, दान किए 51 कोरोड़…

मनोज प्रभाकर :- भारतीय टीम के दिग्गज ऑलराउंडर और अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित मनोज प्रभाकर का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है। भारत के लिए 130 एकदिवसीय मैच खेल चुके मनोज प्रभाकर ने भारत के लिए शानदार क्रिकेट खेला है। उनका नाम भारत के दिग्गज ऑलराउंडरों में शुमार होता है। लेकिन अगर उन्होंने क्रिकेट करियर पर नजर दौड़ायें तो वो एक बार भी छक्का नहीं जड़ पाए। मनोज प्रभाकर ने 130 एकदिवसीय मैच खेले हैं। जिसमें उन्होंने 2 शतक और 11 अर्धशतकों की मदद से 4537 रन और 157 विकेट लिए। लेकिन इतने रन बनाने के बावजूद भी वो अपने पूरे क्रिकेट करियर में एक भी छक्का नहीं लगा पाए।

AB STAR NEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं